हेलीकॉप्टर हादसा: लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह का बरार स्क्वायर श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार

– चार अन्य सैन्य अधिकारियों, कर्मचारियों के पार्थिव शरीर की डीएनए जांच के बाद हुई पहचान
– रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे, पत्नी और बेटी ने पुष्पांजलि अर्पित की

नई दिल्ली। तमिलनाडु हेलीकॉप्टर हादसे में जान गंवाने वाले चार अन्य सैन्य अधिकारियों, कर्मचारियों के शवों की डीएनए जांच के बाद पहचान हो गई है। चारों पार्थिव शरीर रविवार को परिजनों को अंतिम धार्मिक संस्कार के लिए सौंप दिए गए। हादसे में जान गंवाने वाले लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह का अंतिम संस्कार आज बरार स्क्वायर श्मशान घाट पर हुआ। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने लेफ्टिनेंट कर्नल को श्रद्धांजलि दी। शहीद कर्नल को उनकी पत्नी और बेटी ने भी पुष्पांजलि अर्पित की।

लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह और उनके परिवार का अजमेर से नाता रहा है। उनके पिता की बहन यानी लेफ्टिनेंट कर्नल की बुआ देवेंद्र कौर कई साल पहले यहां के सोफिया कॉलेज में शिक्षिका रहीं। सरकारी सेवा में चयन के बाद उन्होंने कॉलेज की नौकरी छोड़ दी थी। वे बचपन में दादी से मिलने आया करते थे लेकिन दादी की मृत्यु के बाद यह सिलसिला बंद हो गया। वैशाली नगर में उनके रिश्तेदारों का पुराना मकान बना हुआ है। हालांकि सिंह के परिवार के लोग अब यहां नहीं रहते हैं। सिंह ने बचपन का कुछ वक्त अपने चाचा के यहां अजमेर में बिताया था। हरजिंदर के पिता और उनके भाई अजमेर के राष्ट्रीय मिलिट्री स्कूल में पढ़े थे। उनके पिता की मृत्यु 1999 में हुई थी। वे भी फौज में थे। इसके अलावा परिवार के कई लोग सेना में सेवारत और सेवानिवृत्त हैं।

तमिलनाडु हेलीकॉप्टर हादसे में जान गंवाने वाले सभी 13 लोगों के शवों की पहचान पूरी हो गई है। तमिलनाडु में कुन्नूर के पास 08 दिसंबर को दुर्घटनाग्रस्त हुए एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर में जान गंवाने वाले भारत के पहले सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्नी, सीडीएस के पीएसओ ब्रिगेडियर एलएस लिड्डर, लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, नायक गुरसेवक सिंह, नायक जितेंद्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार, लांस नायक बी साई तेजा, विंग कमांडर पृथ्वी सिंह चौहान, स्क्वाड्रन लीडर कुलदीप सिंह, जूनियर वारंट ऑफिसर राणा प्रताप दास, जूनियर वारंट ऑफिसर अरक्कल प्रदीप, हवलदार सतपाल राय के पार्थिव शरीर 09 दिसंबर को पालम एयरबेस पर दिल्ली लाये गए।

सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्नी और पीएसओ ब्रिगेडियर एलएस लिड्डर के शवों की पहचान पहले दिन ही हो गई थी, इसलिए इनका अंतिम संस्कार 10 दिसंबर को ही कर दिया गया। तमिलनाडु हेलीकॉप्टर हादसे में जान गंवाने वाले सेना के दो जवानों और वायुसेना के चार जवानों के शवों की पहचान पूरी होने के बाद उनके पार्थिव शरीर शनिवार को उनके परिवार वालों को सौंपकर उनके पैतृक स्थानों के लिए रवाना किये गए। लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह और हवलदार सतपाल राय, नायक गुरसेवक सिंह और नायक जितेंद्र कुमार के शवों की डीएनए जांच के बाद पहचान होने पर इनके पार्थिव शरीर आज परिजनों को सौंपे गए।

लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार आज दिल्ली कैंट स्थित बरार स्क्वायर श्मशान घाट पर हुआ। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने लेफ्टिनेंट कर्नल को श्रद्धांजलि दी। शहीद कर्नल को उनकी पत्नी और बेटी ने भी पुष्पांजलि अर्पित की। इस मौके पर सेना के वरिष्ठ अधिकारी और कर्मचारी भी मौजूद रहे जिन्होंने लेफ्टिनेंट कर्नल को नाम आंखों से अंतिम विदाई दी।

Comments are closed.