गांवों का विकास सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता : डॉ रामेश्वर उरांव

खूंटी। स्थानीय नगर भवन में बुधवार को आपके अधिकार आपकी सरकार आपके द्वार का जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसका उद्घाटन मुख्य अतिथि योजना सह वित्त, वाणिज्यकर, खाद्य, सार्वजनिक वितरण और उपभोक्ता मामले विभाग के मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव और अन्य अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर किया। मंत्री उरांव ने आमजनों को राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी और व उपलब्धियों के बारे में बताया।

उन्होंने कहा कि खूंटी जिले में लगाये गए पंचायत स्तरीय शिविरों का परिणाम सार्थक व सफल रहा है, जो सराहनीय है। उन्होंने कहा कि सुदूर ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों को योजनाओं का लाभ लेने के लिए प्रखंड अथवा जिला मुख्यालय आना पड़ता है। इसी को ध्यान में रखकर आपके अधिकार आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम शुरू किया गया। उन्होंने कहा कि गांवों का विकास सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, रोजगार, महिलाओं के उत्थान को विकास केंद्र में रखकर पूरे कार्य योजना के साथ कल्याणकारी योजनाओं को धरातल पर उतारने का काम किया जा रहा है। ये योजनाएं ग्रामीणों की दशा और दिशा को तय करेंगी।

उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के द्वारा मुख्यमंत्री कृषि ऋण माफी योजना अंतर्गत कुल 50 हजार रुपये तक का ऋण अभी माफ किया जा रहा है। किसानों को केसीसी ऋण देने में बैंक उदार बनें। किसानों को फसल के लिए ऋण अवश्य दें। मंत्री ने कहा कि जिन किसानों ने अपने खेतों में धान उपजाया है, वे सरकारी लैम्पस में अपने धान बेचें। धान की खरीद के कुल मूल्य का 50 प्रतिशत राशि का तुरंत भुगतान किया जायेगा। शेष राशि का भुगतान तीन माह के भीतर कर दिया जायेगा। जिनके पास राशन कार्ड नहीं है उन्हें झारखण्ड राज्य खाद्य सुरक्षा योजना के तहत हरा राशन कार्ड से अच्छादित किया जा रहा है। हरा राशन कार्ड में भी किसी परिवार के सभी सदस्यों को अनाज दिया जा रहा है। राज्य के वृद्धों, विधवा, और दिव्यांगों के लिए सर्वजन पेंशन योजना प्रारंभ की गयी है। सरकार उन्हें एक हजार रुपये प्रतिमाह पेंशन के रूप में देगी। विद्यालय में बच्चों के लिए मध्याह्न भोजन, पोशाक व छात्रवृत्ति दी जा रही है।

सुदूर क्षेत्रों में लोगों के बीच प्रशासन के प्रति विश्वास जागृत हुआ है : उपायुक्त
इस दौरान उपायुक्त ने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से खूंटी जिले के लोग सबसे ज्यादा लाभान्वित हुए हैं। आपको योजनाओं की जानकारी देने के साथ योजनाओं से जोड़ा भी गया है। उन्होंने कहा कि 45 दिनों तक जिले के सभी पंचायतों में कुल 210 शिविरों का आयोजन किया गया। साथ ही सुदूर क्षेत्रों में आयोजित कार्यक्रमों के माध्यम से एक शिविर में 300 से 350 आवेदन प्राप्त किये गए। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि लोगों तक योजनाओं को सरल रूप से पहुंचाया जाय, ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में भी प्रशासन के प्रति विश्वास जागृत हो। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को भी सुदृढ़ किया गया है।

इस मौके पर उप विकास आयुक्त, अनुमण्डल पदाधिकारी, परियोजना निदेशक, आई.टी.डी.ए, अपर सामहर्ता, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी के अलावा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष रामकृष्णा चौधरी, पूर्व विधायक कालीचरण मुंडा सहित अन्य उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.