डिलीवरी ब्वॉय की चाक़ू से मार कर हत्या

  • रांची के निवारणपुर में लड़की से छेड़खानी करने की बात कहते हुए डिलीवरी ब्वॉय को घेर कर ताबड़तोड़ चाकू से हमला, अस्पताल पहुंचे ही युवक ने दम तोड़ा सीसीटीवी में कैद हुई घटना

रांची। चुटिया थाना क्षेत्र स्थित निवारणपुर में गुरुवार की सुबह अज्ञात अपराधियों ने एक डिलीवरी ब्वॉय की चाकू मार कर हत्या कर दी। उसका नाम मनोहर किशन था और वह हरमू स्थित विद्यानगर में रहता था। मूल रूप से वह लोहरदगा जिले का रहने वाला था। सुबह जीप से डिलीवरी करने पहुंचे युवक को तीन अपराधियों ने लड़की से छेड़खानी करने की बात कहते हुए घेर लिया और एक के बाद एक पेट में चाकू से कई प्रहार कर दिये। चाकू लगने के बाद युवक मौके पर ही गिर पड़ा। इसके बाद उसके सहयोगी ने स्थानीय लोगों की मदद से आनन-फानन में उठा कर सदर अस्पताल ले गया। वहां से बेहतर इलाज के लिए घायल युवक को रिम्स भेज दिया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

इधर घटना की सूचना मिलते ही सिटी डीएसपी दीपक कुमार, चुटिया थानेदार वेंकटेश कुमार, डोरंडा थानेदार रमेश सिंह और लोअर बाजार थाना प्रभारी संजय कुमार मौके पर पहुंच कर मामले की जांच में जुट गये। अपराधियों की पहचान कर गिरफ्तार करने के लिए पुलिस लगातार प्रयास कर रही है। पुलिस छानबीन में जुटी है। आखिर युवक से किससे विवाद हुआ है। वहीं इस संबंध में सिटी डीएसपी दीपक कुमार ने बताया कि अपराधी की पहचान की जा रही है। बहुत जल्द गिरफ्तार कर लिया जायेगा। वहीं बताया जा रहा है कि पुलिस को सीसीटीवी से कई अहम जानकारी मिली है, जिससे पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है।

पुलिस आसपास की निजी दुकान और होटलों में लगे सीसीटीवी कैमरे का फुटेज खंगाल रही है, ताकि अपराधियों की पहचान की जा सके। पुलिस को मिले सीसीटीवी फुटेज में एक अपराधी चाकू मारने के बाद हाथ में चाकू लेकर भागता दिख रहा है। अन्य अपराधियों का चेहरा सीसीटीवी कैमरे में अस्पष्ट नहीं हो पा रहा है, लेकिन सभी की पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है। बता दें घटनास्थल से करीब 200 फीट की दूरी पर टीओपी है। बताया जा रहा है घटना के वक्त टीओपी में ताला बंद था। घटना के बाद टीओपी का ताला खुला।

स्थानीय लोग सिर्फ देख रहे थे
डिलीवरी ब्वॉय के साथ में एक अन्य सहयोगी ने बताया कि वे लोग समान डिलीवरी के लिए आये थे। इसी बीच तीन-चार युवक मनोहर से बात करने लगे। उसके बाद एक युवक के आते ही चाकू से हमला कर दिया। उसके बाद सब पैदल ही भाग गये। खून से लथपथ मनोहर को उठाने के लिए कोई नहीं आ रहा था। इसी बीच एक स्कूटी वाले आये और उसे लाद कर अस्पताल ले गये, लेकिन अस्पताल पहुंचते ही उसकी मौत हो गयी। बताया कि घटना के वक्त काफी लोगों की भीड़ जुटी, लेकिन कोई मदद के लिए आगे नहीं आया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.