टिकट के लिए क्रिकेटप्रेमियों में मची होड़, दलाल भी सक्रिय

रांची। भारत और न्यूजीलैंड के बीच 19 नवम्बर को रांची के झारखंड स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन (जेएससीए) स्टेडियम में टी-20 मैच खेला जाना है। टी-20 मैच को लेकर झारखंड वासियों में काफी उत्साह है। मैच को लेकर 15 नवम्बर से टिकटों की बिक्री भी शुरू हो गयी है। टिकट बिक्री 17 नवम्बर तक होगी। बुधवार को भी टिकट लेने के लिए जेएससीए स्टेडियम के पश्चिम गेट के पास बने काउंटरों पर क्रिकेटप्रेमियों में होड़ मची रही । मंगलवार को भी टिकट लेने के लिए लोग देर रात से ही लाइन में लगकर अपनी बारी का इंतजार करते देखे गये। वहीं दूसरी ओर टिकटों की कालाबाजारी को लेकर दलाल भी सक्रिय हो गये हैं।

जानकारी के अनुसार स्थानीय युवक टिकटों को खरीदकर उसकी कालाबाजारी कर रहे हैं। स्थानीय युवक 900 रूपये का टिकट खरीद कर 2000, 1800 रूपये का टिकट 2800 रूपये में बेच रहे हैं। बुंडू के शैलेन्द्र कुमार ने कहा कि वह टिकट के लिए देर रात से ही लाइन में लगकर इंतजार कर रहे हैं। लेकिन 900 रूपये का टिकट नहीं मिल रहा है, जबकि यहां के रहने वाले स्थानीय युवकों के पास 900 रूपये का टिकट 2000 रूपये में बेचा जा रहा है। चतरा के दिनेश कुमार ने कहा कि टिकट लेने के लिए वह कल ही रांची आ गये थे। लेकिन अभी तक उन्हें टिकट नहीं मिला है। जानकारी के अनुसार कुछ महिलाएं टिकट खरीद कर उसे कालाबाजारी करने वाले युवकों को थोड़े ज्यादा दाम लेकर बेच रही हैं। वहीं दूसरी ओर टिकट की कालाबाजारी करने वाले युवक अपना नंबर भी व्हाट्सअप ग्रुप में डाल रहे हैं।

वहीं दूसरी ओर भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले जाने वाले मैच के लिए दोनों टीमें गुरूवार को चार्टर्ड विमान से रांची पहुंचेंगी। यहां पहुंचने के बाद दोनों टीमों के खिलाड़ी होटल रेडिशन ब्लू जायेंगे और वहां आराम करेंगे। इसके अलावा शुक्रवार को कुछ खिलाड़ी अभ्यास भी कर सकते हैं। जेएससीए स्टेडियम में यह तीसरा अंतरराष्ट्रीय टी-20 मुकाबला होगा।

इस संबंध में जेएससीए सचिव संजय सहाय ने बताया कि टिकटों की बिक्री बुधवार तक होनी है। अगर टिकट बचेगा, तो 18 नवम्बर को भी टिकट काउंटर पर टिकटों की बिक्री होगी। यह पूछे जाने पर कि टिकटों की कालाबाजारी हो रही है। इस पर उन्होंने कहा कि स्टेडियम के अंदर ऐसा कुछ नहीं है। कुछ स्थानीय युवकों के कालाबाजारी करने की बात सामने आयी है। पुलिस ने एक युवक को पकड़ा भी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.