पांच सौ लाभुकों के बीच साढ़े सात करोड़ की परिसंपत्तियों का वितरण

धनबाद। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार लोगों को स्वस्थ, सुलभ व त्वरित न्याय प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। गांधी जयंती के अवसर पर शुरू किए गए आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत पूरे राज्य में विधिक जागरुकता कार्यक्रम चलाया गया, जिसमें आशा अनुकूल सफलता मिली है।

यह बात शनिवार को धनबाद के न्यू टाउन हॉल में आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम में झारखंड उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति एस चंद्रशेखर ने ऑनलाइन शिरकत करते हुए कहीं।

धनबाद के प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह चेयरमैन डालसा राम शर्मा ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि दो अक्टूबर से चलाए जा रहे इस कार्यक्रम में 1205 गांव में पैरा लीगल वॉलिंटियर, न्यायिक पदाधिकारी, अधिवक्ताओं के द्वारा तीन तीन बार विधिक जागरूकता शिविर आयोजित कर लोगों को विभिन्न कानूनों व सरकारी योजनाओं की जानकारी दी गई। केवल आज 500 लाभुकों के बीच 7:50 करोड़ की परिसंपत्तियों का वितरण किया जा रहा है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपायुक्त सह उपाध्यक्ष डालसा धनबाद संदीप कुमार ने बताया कि इस कार्यक्रम के तहत कुल 38 सौ कैंप आयोजित किए गए। विभिन्न विद्यालयों में कार्यक्रम किया गया। बच्चों, महिला शिक्षिकाओं व ग्रामीणों को कानून की जानकारी दी गई।

कार्यक्रम में प्राधिकार की ओर से पैरा लीगल वालंटियर राजेश कुमार सिंह, डिपेंटी गुप्ता और व पंकज कुमार वर्मा को सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए भी सम्मानित किया गया। स्कूली बच्चों को भी प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इससे पूर्व समारोह में उपस्थित पदाधिकारियों ने दीप प्रज्वलन कर समारोह का उद्घाटन किया।

समारोह में तमाम न्यायिक पदाधिकारी, बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अमरेंद्र कुमार सहाय, उप विकास आयुक्त दशरथ चंद्र दास, सिटी एसपी आर राम कुमार, एसडीएम धनबाद प्रेम कुमार तिवारी सहित सभी विभागों के पदाधिकारी उपस्थित थे। साथ ही बोकारो उपायुक्त कुलदीप, देवघर के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री बोकारो के प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रदीप कुमार श्रीवास्तव, देवघर के प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश दिवाकर पांडे, न्यायिक पदाधिकारी गण ने भी ऑनलाइन शिरकत की। कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में लाभुक भी उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.