करमा, चैनपुर, भुइयांडीह, परसाबेड़ा और लइयो से कोयला तस्करी जारी

आलोक स्टील को भेजा जा रहा है कोयला

अजय शर्मा
रांची। झारखंड के हर जिले में कोयले की तस्करी जारी है। राजधानी से सटे कई इलाकों में भी संगठित तरीके से कोयले की तस्करी चल रही है। इस बार कुजू के करमा में स्थित आलोक स्टील के मालिक इस धंधे में शामिल हो गये हैं और आसपास के इलाकों से अवैध कोयला खरीद कर बनारस की मंडियों में भेज रहे हैं। आलोक स्टील रूंगटा का बताया जाता है। घाटो के चैनपुर से सिरका भुइयांडीह में अवैध कोयला जमा हो रहा है और यहां से स्टील कंपनी को भेजा जा रहा है। वहीं करमा, लइयो और परसाबेड़ा में भी डंप सेंटर बनाया गया है। इस धंधे में भोला खान, गब्बर खान, इनाम, शंकर मिश्रा, दीपक साहू, संजू साहू और डबलू सिंह भी शामिल है। धंधा इन्हीं का चल रहा है। अवैध कोयला लदे ट्रक इनके ही हैं और इस अवैध कारोबार में पुलिस इन सबसे मिली हुई है। इनके अलावा मनोज, एकरामुल और महेश भी इसमें शामिल हैं। रात में 50 से 60 ट्रक अवैध कोयला अलग-अलग इलाकों में भेजा जा रहा है। तस्करों का कहना है कि सेटिंग ऊपर तक है। किसी को शिकायत करने से भी कोई कार्रवाई नहीं होगी। बड़कागांव के कुछ इलाकों से भी चरही के रास्ते कोयला बनारस की मंडियों में भेजा जा रहा है। इस नेटवर्क को तोड़ने के लिए जिस विभाग की जवाबदेही है, वह खुद इस धंधे का संरक्षक बना हुआ है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.