पंचायत चुनाव कराने की मांग को लेकर भाजपा करेगी आंदोलन : दीपक प्रकाश

रांची। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने भगवान बिरसा मुंडा की जयंती 15 नवम्बर को जनजातीय गौरव दिवस मनाए जाने पर प्रधानमंत्री को बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश में यथाशीघ्र पंचायत चुनाव कराने की मांग को लेकर भाजपा आंदोलन करेगी। पार्टी जिला परिषद चुनाव मजबूती से लड़ेगी। शत प्रतिशत वैक्सिनेसन कराने के लिए वैक्सिनेसन युक्त बूथ कार्यक्रम संचालित किया जाएगा। दीपक प्रकाश शनिवार को पार्टी कार्यालय में प्रदेश पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हेमन्त सरकार की विफलता से जनता त्रस्त है। जनसमस्याओं को लेकर पार्टी आंदोलन करेगी। कोरोना काल में केंद्र सरकार द्वारा 80 करोड़ लोगों को खाद्यान्न पदार्थ दिया गया लेकिन हेमन्त सरकार में गरीबों के अन्न पर भी लूट मची है।

विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कहा कि वंशवाद को आगे बढ़ाने वाली कांग्रेस ने भगवान बिरसा मुंडा के नाम को आगे बढ़ाने के बजाए परिवार के लोगों का नाम आगे बढ़ाया, जबकि भगवान बिरसा मुंडा की जयंती को यादगार बनाने के लिए अटल बिहारी बाजपेयी ने 15 नवम्बर को ही राज्य गठन का दर्जा दिया। एयरपोर्ट का नामांकरण बिरसा मुंडा के नाम से किया। भगवान बिरसा मुंडा के जयंती को प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय जनजातीय गौरव दिवस मनाने का निश्चय किया। संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह ने संगठन विस्तार को लेकर पार्टी पदाधिकारियों को कई दिशा निर्देश दिया।

उन्होंने विचारधारा को आगे बढ़ाने के लिए पार्टी पदाधिकारियों के बीच प्रशिक्षण वर्ग लगाने का भी दिशा निर्देश दिया। पार्टी द्वारा लक्षित कार्यक्रमों को सफल बनाते हुए संगठन को मजबूती प्रदान करना है। 15 नवम्बर को राष्ट्रीय जनजातीय गौरव दिवस प्रत्येक बूथ पर सफलतापूर्वक मनाए जाने का भी दिशा निर्देश दिया। इसके साथ ही वैक्सिनेसन युक्त बूथ बनाने का भी आह्वान किया। उन्होंने जिलाध्यक्षों को बूथ समितियों के पुनर्गठन, अटल बिहारी बाजपेयी के जयंती पर 25 दिसंबर को सुशाशन दिवस, निर्धारित मानदंडों के तहत प्रशिक्षण पूरा करना व निर्धारित कार्यक्रम को पूरा करने का दिशा निर्देश दिया।

एसटी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद समीर उरांव ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा बिरसा मुंडा के जयंती को राष्ट्रीय जनजातीय गौरव दिवस मनाने के निर्णय से जनजाति समाज के लोग गौरवान्वित महसूस कर रहा है। देश की आजादी में जो जनजाति समाज के स्वतंत्रता सेनानी रहे उन्हें पहली बार इस प्रकार से सम्मानित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के तहत वैसे सभी स्वतंत्रता सेनानियों को सम्मान दिया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.