राष्ट्रपति ने विंग कमांडर अभिनंदन को वीर चक्र से किया सम्मानित

मेजर विभूति और सूबेदार सोमबीर को शौर्य चक्र

नई दिल्ली। राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर (अब ग्रुप कैप्टन) अभिनंदन वर्धमान को वीर चक्र से सम्मानित किया। 27 फरवरी, 2019 को हवाई युद्ध के दौरान पाकिस्तान के एफ -16 लड़ाकू विमान को मार गिराने के लिए उन्हें सम्मानित किया गया।

 

राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने सोमवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित रक्षा अलंकरण समारोह-1 में देश की सुरक्षा के लिए अदम्य साहस का प्रदर्शन करने वाले जवानों को शौर्य पुरस्कारों से सम्मानित किया। इस दौरान राष्ट्रपति ने दो कीर्ति चक्र, एक वीर चक्र, 10 शौर्य चक्र, 14 परम विशिष्ट सेवा पदक, दो उत्तम युद्ध सेवा पदक और 26 अति विशिष्ट सेवा पदक प्रदान किये।

 

राष्ट्रपति ने कोर ऑफ इंजीनियर्स के सैपर प्रकाश जाधव को मरणोपरांत कीर्ति चक्र से सम्मानित किया। उनकी पत्नी और मां ने राष्ट्रपति से पुरस्कार ग्रहण किया।

 

बहादुर सैनिक मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल को उनके असाधारण साहस, कर्तव्य के प्रति समर्पण और सर्वोच्च बलिदान के लिए शौर्य चक्र (मरणोपरांत) दिया गया। जम्मू-कश्मीर में हुए इस ऑपरेशन में पांच आतंकवादी मारे गए और 200 किलोग्राम विस्फोटक बरामद किया गया था। मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल की पत्नी लेफ्टिनेंट नितिका कौल और मां सरोज ढौंडियाल ने उनका पुरस्कार ग्रहण किया।

 

जम्मू-कश्मीर में एक ऑपरेशन के दौरान ए श्रेणी के आतंकवादी को मारने के लिए नायब सूबेदार सोमबीर को मरणोपरांत शौर्य चक्र प्रदान किया गया। जाट रेजिमेंट के नायब सूबेदार सोमबीर को राष्ट्रीय राइफल्स की एक हमला टीम का हिस्सा थे, जिसने एक ऑपरेशन की योजना बनाई और उसे अंजाम दिया जिसमें जम्मू-कश्मीर में 3 कट्टर आतंकवादियों का सफाया किया। राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द से उनकी पत्नी और मां ने पुरस्कार ग्रहण किया।

राष्ट्रपति ने रक्षा अलंकरण समारोह में लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह को असाधारण क्रम की विशिष्ट सेवा के लिए परम विशिष्ट सेवा पदक प्रदान किया।इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.