पूर्वर्ती सरकारों ने बुंदेलखंड को उजाड़ने का काम किया : प्रधानमंत्री मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के महोबा की धरती से समाजवादी पार्टी समेत अन्य विपक्षी दलों पर बुंदेलखंड की अनदेखी का आरोप लगाते हुये कहा कि परिवारवादियों की सरकार ने इस इलाके को लूटकर अपने घर का भला किया। यहां की जनता बुंद-बुंद के लिए तरसती रही, किंतु पूर्ववर्ती सरकारों का आमजन की मुश्किलों से कोई सरोकार नहीं रहा। प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार की सराहना करते हुये शुक्रवार को कहा कि पहली बार बुंदेलखंड के लोग यहां के विकास के लिए काम करने वाली सरकार देख रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने बुंदेलखंड में जल संकट को दूर करने की महत्वपूर्ण पहल करते हुये महोबा में भवानी बांध समेत कई परियोजनाओं का उद्घाटन किया। इन परियोजनाओं से क्षेत्र में जल की कमी की समस्या को दूर करने में मदद मिलेगी। इनमें अर्जुन सहायक परियोजना, रतौली वियर परियोजना, भवानी बांध परियोजना और मझगांव-मिर्च छिड़काव परियोजना शामिल हैं।

इस अवसर पर आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने बुंदेलखंड के पिछड़ेपन के लिए केंद्र और राज्य की पूर्ववर्ती सरकारों को कसूरवार ठहराया। उन्होंने अपरोक्ष रूप से समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव को निशाने पर रखते हुये जमकर शब्दबाण छोड़े।

उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड को लूटकर पहले की सरकार चलाने वालों ने अपने परिवार का भला किया। आमजन का परिवार बूंद-बूंद के लिए तरसता रहे। इससे उनको कोई सरोकार नहीं था। मोदी ने बुंदेलखंड की समस्याओं का जिक्र करते हुए कहा कि दशकों तक बुंदेलखंड के लोगों ने लूटने वाली सरकारें देखीं हैं।

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्र सरकार की ओर से बुंदेलखंड के विकास के लिये किये जा रहे कार्यों और परियोजनाओं की फेहरिस्त गिनाते हुये प्रधानमंत्री ने कहा कि पहली बार बुंदेलखंड के लोग, यहां के विकास के लिये काम करने वाली सरकार को देख रहे हैं।

 

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारें उत्तर प्रदेश को लूटते हुये नहीं थकती थीं। जबकि मौजूदा राज्य और केंद्र सरकार काम करते-करते नहीं थकती।

 

मोदी ने विपक्षी दलों पर किसानों के मुद्दे पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि किसानों को हमेशा समस्याओं में उलझाए रखना ही कुछ राजनीतिक दलों का आधार रहा है। वे समस्याओं की राजनीति करते हैं और भाजपा समाधान की राष्ट्रनीति करती हैं। उन्होंने कहा कि केन-बेतवा लिंक का समाधान भी हमारी ही सरकार ने निकाला है। हमने सभी पक्षों से संवाद कर इसका रास्ता निकाला है।

 

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने उप्र के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर लगातार हमला जारी रखा। उन्होंने कहा कि परिवारवादियों की सरकारें किसानों को सिर्फ अभाव में रखना चाहती थीं। वे किसानों के नाम से घोषणाएं करते थे, लेकिन किसान तक पाई भी नहीं पहुंचती थी। जबकि केंद्र सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि से अबतक 1 लाख 62 हज़ार करोड़ रुपये सीधे किसानों के बैंक खातों में भेजने का काम किया है।

 

मोदी ने उत्तर प्रदेश के इस पिछड़े इलाके से होने वाले पलायन को रोकने के लिये केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता दोहराते हुये कहा कि वे बुंदेलखंड से पलायन को रोकने के लिये इस क्षेत्र को रोजगार में आत्मनिर्भर बनाने के लिए कटिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे और यूपी डिफेंस कॉरिडोर इसका एक बहुत बड़ा प्रमाण है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.