पहले की तरह खुलेंगी दुकानें, नदी-तालाब में मना सकेंगे छठ

आजाद सिपाही संवाददाता
रांची। हेमंत सरकार ने राज्यवासियों को त्योहारों का तोहफा दे दिया है। दीपावली और धनतेरस में पहले की तरह दुकानें खुल सकेंगी। यानी दुकान खोलने के लिए समय की पांबदी हटा ली गयी है। लोग छठ मनाने के लिए तालाब और नदी के घाट का उपयोग कर सकेंगे। साप्ताहिक लॉक डाउन यानी रविवार को भी दुकानों को बंदी से छूट मिल गयी है। अब वह पहले की तरह खुलेंगी। इतना ही नहीं भारत-न्यूजीलैंड मैच का आनंद लोग स्टेडियम से उठा सकेंगे, लेकिन स्टेडियम की क्षमता के आधे लोग ही मैच देख सकेंगे।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक हुई। इसमें मौजूदा कई तरह की पाबंदियों में छूट देने का निर्णय लिया गया। बैठक के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पत्रकारों से कहा कि जनता के हित में सरकार ने बहुत सारे फैसले लिये हैं। लेकिन हम लोगों से कहना चाहते हैं कि अभी कोरोना पूरी तरह से गया नहीं है, सावधानी जरूरी है। लोग पर्व-त्योहार मनायें, लेकिन सावधानी बरतते हुए।
स्वास्थ्य मंत्री बन्ना मुप्ता ने बैठक की जानकारी देते हुए कहा कि सरकार ने पाबंदियों में छूट देने का र्निणय लिया है, लेकिन लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें। त्योहार मनायें, लेकिन मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग आदि का भी पालन करें। संभव हो तो घर पर ही छठ करें। घाट पर जायें तो सोशल डस्टिेंसिंग का पालन करें। उन्होंने कहा कि भारत और न्यूजीलैंड के बीच 19 नवंबर को खेले जानेवाले क्रिकेट मैच में भी स्टेडियम की कुल क्षमता के 50 फीसदी दर्शकों को स्टेडियम में प्रवेश की इजाजत दी जायेगी।

कक्षा एक से पांच तक स्कूल खोलने और अन्य कुछ पाबंदियों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अभी सरकार इस पर विचार कर रही है। आनेवाले समय में हालात को देखते हुए और पाबंदियों को कम करने पर विचार किया जायेगा।

Comments are closed.