राष्ट्रपति से मिले सरयू राय, सौंपा ज्ञापन

  • जमशेदपुर में नगर निकाय के गठन में हस्तक्षेप का किया आग्रह
  • अपनी पुस्तक समय का लेख भेंट किया

रांची। जमशेदपुर पूर्वी विधायक सरयू राय ने बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविद से मुलाकात की और उन्हें ज्ञापन सौंपकर जमशेदपुर में जन सहभागिता युक्त नगर निकाय के गठन के लिए सार्थक हस्तक्षेप का अनुरोध किया। ज्ञापन के जरिये उन्होंने कहा कि विधायक होने के नाते मैं वर्षों से प्रयत्न कर रहा हूं कि जमशेदपुर में एक विधि-सम्मत नगर निकाय का गठन राज्य सरकार करे। वर्ष 2005 में राज्य सरकार ने जमशेदपुर में नगर निगम गठित करने का निर्णय किया था। विधान सभा से इसके लिए एक अधिनियम पारित हुआ था। परंतु यह निर्णय लागू नहीं हो सका।

संविधान सम्मत नहीं
उन्होंने कहा कि जमशेदपुर में अभी तक जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति ही पूर्ववत कार्यरत है, जो संविधान सम्मत नहीं है। जमशेदपुर एक वृहतर शहरी क्षेत्र है। 74वें संविधान संशोधन के बाद एक वर्ष के भीतर यहां पर नगर निगम या औद्योगिक शहर की स्थापना होनी चाहिये थी। परंतु ऐसा न होकर संक्रमणशील शहरी क्षेत्रों के लिये संशोधन के पूर्व में गठित की गई जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति ही यहां पर अभी भी कार्यरत है। नतीजा यहां के नागरिक सामान्य नगरपालिका सेवाएं प्राप्त करने तथा एक विधि-सम्मत नगर निकाय का गठन करने में अपना वैधानिक योगदान देने के संविधान सम्मत अधिकार से लंबे समय से वंचित हैं। इसलिए जमशेदपुर के नागरिकों को नगर निकाय गठन का संविधान प्रदत्त अधिकार दिलाने तथा जमशेदपुर में एक संविधान सम्मत नगर निकाय के गठन का मार्ग प्रशस्त करने के लिए केन्द्र, राज्य सरकार और अन्य सक्षम प्राधिकार को इस दिशा में शीघ्रातिशीघ्र निर्णय लेने का निर्देश दें।

Comments are closed.