दुर्गा पूजा में साधारण होगा पूजा पंडाल, नहीं वितरित होंगे भोग-प्रसाद : डीसी

– दुर्गा पूजा को लेकर उपायुक्त की अध्यक्षता में जिला स्तरीय शांति समिति की हुई बैठक

रामगढ़। रामगढ़ में दुर्गा पूजा के आयोजन को लेकर शुक्रवार को उपायुक्त माधवी मिश्रा की अध्यक्षता में समाहरणालय सभाकक्ष में जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक के दौरान उपायुक्त माधवी मिश्रा एवं पुलिस अधीक्षक प्रभात कुमार ने कहा कि कोरोना से बचाव के मद्देनजर इस वर्ष दुर्गा पूजा का आयोजन राज्य सरकार द्वारा जारी निर्देशों के साथ मनाया जाएगा।

इस दौरान अनुमंडल पदाधिकारी जावेद हुसैन ने सभी प्रशासनिक तथा पुलिस पदाधिकारियों, विभिन्न दुर्गा पूजा समिति के प्रतिनिधियों आदि को जारी दिशा-निर्देशों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस वर्ष कहीं पर भी दुर्गा पूजा पंडाल का आयोजन किसी थीम पर नहीं होगा। मूर्ति की ऊंचाई 5 फीट तक ही होनी है। किसी भी प्रकार के खाद्य सामग्रियों से संबंधित फूड स्टॉल को पूजा पंडालों के आसपास लगाने की अनुमति नहीं है। ध्वनि विस्तारक यंत्रों यथा लाउडस्पीकर का प्रयोग केवल पूजा के दौरान मंत्र उच्चारण के लिए ही किया जाना है। किसी भी प्रकार के डीजे का इस्तेमाल नहीं किया जाना है।

मेले के आयोजन पर भी पूर्ण रूप से प्रतिबंध है। श्रद्धालुओं को पंडाल के अंदर आने की अनुमति नहीं होगी। वे बैरिकेडिंग के बाहर से ही दर्शन कर सकते है। किसी भी समय पंडाल के अंदर पूजा समिति के 25 से ज्यादा सदस्य उपस्थित नहीं रहेंगे एवं 18 वर्ष से कम आयु के सदस्यों को पंडाल के अंदर आने की अनुमति नहीं होगी।

बैठक के दौरान उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक ने शांति समिति के सभी सदस्यों को जानकारी दी कि पर्व के आयोजन के दौरान कहीं से भी अगर दिशानिर्देशों की अवमानना अथवा उल्लंघन से संबंधित मामला सामने आता है तो एफ आई आर दर्ज करते हुए कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही उन पर आपदा प्रबंधन अधिनियम की सुसंगत धाराओं के तहत भी कार्रवाई की जाएगी।

बैठक के दौरान उपायुक्त एवं एसपी के द्वारा सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों, अंचल अधिकारियों, थाना प्रभारियों आदि से उनके उनके क्षेत्रों में होने वाले दुर्गा पूजा आयोजन के संबंध में तथा लगने वाले पूजा पंडालों के संबंध में विस्तार से जानकारी ली गई। इस दौरान उन्होंने सभी को जल्द से जल्द शांति समिति की बैठक का आयोजन कर लोगों को दिशा निर्देशों से अवगत कराने तथा लगातार क्षेत्र भ्रमण कर सभी पूजा पंडालों में दिशा निर्देशों का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने सभी क्षेत्रों में असामाजिक तत्वों के खिलाफ धारा 107 की कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

एसपी ने सभी प्रशासनिक तथा पुलिस अधिकारियों को पर्व के शांतिपूर्ण आयोजन हेतु सोशल मीडिया पर विशेष रूप से ध्यान रखने तथा किसी भी प्रकार की अफवाह सामने आने पर त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

मूर्ति विसर्जन के संबंध में जानकारी देते हुए एसपी ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित की गई जगह पर शांतिपूर्ण तरीके से से ही मूर्ति का विसर्जन किया जाना है।

Comments are closed.