प्रधानमंत्री की इच्छा, रामलला के मुखमंडल पर पड़े सूर्य की किरणें

-जन्मोत्सव की तैयारियों के साथ तकनीकी मुद्दों पर हो रही चर्चा
– अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि मंदिर निर्माण समिति की बैठक

अयोध्या। श्री राम जन्मभूमि पर रामलला के जन्मोत्सव के समय रामलला के मुखमंडल पर सूर्य की किरणें पड़े, इसके लिए ट्रस्ट की निर्माण समिति मंथन कर रही है। ऐसी इच्छा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की है और भरोसा है कि वैज्ञानिक इसमें सफल होंगे।

श्रीराम जन्म भूमि मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक यहां सर्किट हाउस में चल रही है। बैठक की अध्यक्षता मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष पूर्व आइएएस अधिकारी नृपेंद्र मिश्र कर रहे हैं।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने जानकारी दी है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की इच्छा है कि राम लला केे जन्म के समय उनके मुख मंडल पर सूर्य की किरणें पड़े। चैत्र मास की नवमी तिथि को दोपहर 12 बजे रामलला का जन्म उत्सव मनाया जाता है। प्रधानमंत्री ने अंतरिक्ष वैज्ञानिकों से इस बारे में अनुरोध किया है और उन्हें भरोसा है कि वैज्ञानिकों को इसमें सफलता अवश्य मिलेगी।

ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि निर्माण समिति की बैठक में तकनीकी और भविष्य के अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई है। मंदिर निर्माण के लिए चल रहे राफ्टिंग के काम को कवर करने के लिए रात्रि में मीडिया को आमन्त्रित किया जाएगा । राफ्टिंग निर्माण के लिए 22 से 23 डिग्री तापमान की आवश्यकता है। इसीलिए रात्रि में इसका काम हो रहा है। इस समय तापमान बनाये रखने के लिए बर्फ का ज्यादा इस्तेमाल करना पड़ रहा है।

Comments are closed.