बालूमाथ में बिजली विभाग ने फिर ली एक की जान

पोल पर चढे प्राइवेट मिस्त्री की करंट लगने से मौत
ग्रामीणों ने किया मुरपा-खलारी मार्ग जाम

आजाद सिपाही संवाददाता
मुरपा/ बालूमाथ। बालूमाथ थानांतर्गत मारंगलोइया पंचायत के पुलिस पिकेट से महज चार सौ फीट की दूरी पर पूर्व मुखिया महेंद्र उरांव के घर के बगल में ट्रांसफॉर्मर में एलटी लाइन में खराबी दूर करने के लिए पोल पर चढ़े एक बिजली मिस्त्री की मौत हो गयी। मृतक दामोदर कुमार (पिता वैजनाथ महतो) गांव हेबना का निवासी था। उसका 10 महीने का एक बच्चा भी है।

जानकारी के अनुसार बुधवार को सुबह करीब 10 बजे हरैयाटांड़ पीएस में वहां रह रहे धनु मिस्त्री से लाइन काटने को कहा, परंतु उसने ध्यान नहीं दिया। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि लोकल मिस्त्री ने एक बार पहले भी दामोदर के साथ धोखा किया था, जिससे उसका दाहिना हाथ जल गया था। ग्रामीणों का आरोप है कि बिजली अभियंता द्वारा पैसा लेकर अनुभवहीन मिस्त्री को नियुक्त किया जाता है।

हादसे के बाद ग्रामीणों ने सड़क जाम कर दी। उसमें पांकी विधायक शशिभूषण मेहता भी फंसे रहे। बालूमाथ से आये अंचल अधिकारी अफताब आलम एवं थाना प्रभारी धर्मेंद्र महतो ने समुचित आश्वासन देकर जाम हटवाया। बता दें कि इस घटना से पूर्व 29 सितंबर को बालूमाथ में 11 हजार वोल्ट का तार गिरने से एक बच्ची की मौत हो गयी थी। उस दौरान सड़क जाम की गयी थी और विवाद भी हुआ था।

Comments are closed.