हरीश रावत का कैप्टन पर तीखा हमला, कहा- बीजेपी के दबाव में हैं, जवाबदेही से बचना चाहते थे, इसलिए दिया इस्तीफा

पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने कैप्टन अमरिंदर सिंह पर तीखा हमला बोला है. आज तक से खास बातचीत में हरीश रावत ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह अप्रत्यक्ष तौर पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की मदद कर रहे हैं. वो उनके दवाब में हैं.

उन्होंने कहा कि विधायक दल की मीटिंग में कैप्टन पंजाब के मुद्दों के अलावा बादलों से साठगांठ पर जवाबदेही से बचना चाहते थे. इसलिए वो मीटिंग में नहीं आए और उससे पहले इस्तीफा दे दिया. कैप्टन अमरिंदर ने सोनिया को अपने फैसले के बारे में बताया, जबकि पार्टी ने उन्हें ऐसा कुछ करने को नहीं कहा था.

रावत ने कहा कि कैप्टन ने इस्तीफा दिया तो पार्टी ने धन्यवाद दिया और उम्मीद जताई कि वो आगे मार्गदर्शन करते रहेंगे, लेकिन उन पर ऐसा क्या दवाब आया कि हर तरफ खोट ही दिखाई देने लगा. वो अकालियों की भी मदद कर रहे हैं. अगर समस्याओं को सुलझाया होता तो आज ये स्थिति नहीं आती.

चन्नी और सिद्धू को ही करना है संचालन

हरीश रावत ने कहा कि विधायकों का कहना था कि कैप्टन के नेतृत्व में चुनाव नहीं जीत सकते हैं. वहीं, सिद्धू पर कहा कि वो एक भावनाप्रधान व्यक्ति हैं. उन्होंने कुछ बिंदुओं पर अपनी बात रखी है. मुख्यमंत्री और उनके बीच मे बात हुईं हैं. चन्नी और सिद्धू को ही मिलकर पंजाब में पार्टी का संचालन करना है.

Comments are closed.