झारखंड की बेटियों ने हरियाणा को दी कड़ी टक्कर

आजाद सिपाही संवाददाता
सिमडेगा। हॉकी झारखंड और जिला प्रशासन सिमडेगा द्वारा आयोजित 11वीं हॉकी इंडिया राष्ट्रीय जूनियर महिला हॉकी चैंपियनशिप के दसवें दिन फाइनल मुकाबला हॉकी झारखंड बनाम हॉकी हरियाणा के बीच खेला गया। इसमें झारखंड की बेटियों ने हरियाणा को कड़ी टक्कर दी। हालांकि झारखंड 3-2 से यह मुकाबला हार गया, लेकिन झारखंड की बेटियों ने उम्दा खेल का प्रदर्शन कर दर्शकों का मन मोह लिया। फाइनल मुकाबले में झारखंड टीम को पहले गोल कर बढ़त मिली, लेकिन इस बढ़त को टीम कायम नहीं रख पायी और 2-3 से मैच हार कर उपविजेता से ही संतुष्ट होना पड़ा।

इससे पहले कांस्य पदक के लिए खेले गये मैच में महाराष्ट्र की टीम चंडीगढ़ को एकतरफा मुकाबले में 6-2 से पराजित कर पहली बार कांस्य पदक जीतने में सफल रही। फाइनल मुकाबले में विजेता हरियाणा की ओर से नौ और 19वें और 21वें मिनट में गोल दागे गये। झारखंड टीम की ओर से पांचवें मिनट में दीपिका सोरेंग ने और 39वें मिनट में रोपनी कुमारी ने गोल किये।

फाइनल मैच में मुख्य अतिथि के रूप में झारखंड सरकार के खेल मंत्री हफीजुल हसन अंसारी, सिमडेगा विधायक भूषण बाड़ा, कोलेबिरा विधायक नमन विकसल कोंगडी, उपायुक्त सिमडेगा सुशांत गौरव, पुलिस अधीक्षक डॉ शम्स तबरेज, हॉकी झारखंड के अध्यक्ष भोला नाथ सिंह, उप विकास आयुक्त अरुण वाल्टर सांगा, पूर्व विधायक बिमला प्रधान, हॉकी झारखंड के महासचिव विजय शंकर सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष शशिकांत प्रसाद, सीइओ रजनीश कुमार, हॉकी सिमडेगा के अध्यक्ष मनोज कोनबेगी ने खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर मैच प्रारंभ कराया।
मैच समाप्ति के उपरांत मुख्य अतिथि खेल मंत्री ने स्वर्ण पदक विजेता हरियाणा, रजत पदक विजेता झारखंड और कांस्य पदक विजेता महाराष्ट्र टीम को ट्रॉफी तथा सभी खिलाड़ियों को मेडल देकर सम्मानित किया।

Comments are closed.