आतंकियों के ‘टेरर प्लान’ को नाकाम करेगी Delhi Police, बनाई ये स्पेशल रणनीति

नई दिल्ली: आने वाले त्योहारों के मौके पर आतंकी (Terrorists) किसी भी बड़ी वारदात (Terrorist’s Attack) को अंजाम दे सकते है. लिहाजा उससे निपटने के लिए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने आतंकवाद के लोकल सपोर्ट पर पैनी नजर रखने का फैसला किया है. सूत्रों के मुताबिक, पेट्रोल पंप और पेट्रोल टैंकर्स को टेरर फैलाने के लिए टारगेट किया जा सकता है. इसको लेकर मीटिंग करके सुरक्षा पुख्ता करने के आदेश दिए गए हैं.

आतंकी अपने नापाक मंसूबों में नहीं होंगे कामयाब

बता दें कि त्योहारों का सीजन शुरू होने वाला है और आतंकी अपने नापाक मंसूबों को अंजाम दे सकते हैं. इसी के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं. शनिवार को हुई दिल्ली पुलिस कमिश्नर और आला अधिकारियों की मीटिंग में आने वाले त्योहारों में आतंकवाद से कैसे निपटना है इस पर जोर दिया गया.

मीटिंग में ये जानकारी दी गई कि इनपुट है कि अफगानिस्तान संकट के कारण दिल्ली पर आतंकवादी हमला हो सकता है और कोई भी ऐसा हमला तब तक नहीं हो सकता जब तक हमलावरों को लोकल सपोर्ट नहीं हो. ऐसे हमले करने में लोकल क्रिमिनल, गैंगस्टर और रूढ़िवादी तत्व मदद कर सकते हैं इसलिए किराएदारों और कामगारों के सत्यापन जरूरी हैं. इसके लिए जल्द ही अभियान शुरू किया जाए.

इन जगहों पर रहेगी पुलिस की पैनी नजर

इसके अलावा साइबर कैफे, केमिकल शॉप्स, पार्किंग, स्क्रैप डीलर्स और कार डीलर्स आदि की प्रोफेशनल तरीके से चेकिंग होनी चाहिए. मीटिंग में इस बात पर भी जोर दिया गया कि कम्यूनिटी पुलिसिंग की जाए, जिसमें RWA, MWA, पुलिस की आंख, कान और प्रहरी अमन कमेटी की मीटिंग करे.

सुरक्षा के लिए शाम 5 बजे से रात 12 बजे तक इलाके में पुलिस पेट्रोलिंग होगी. बीट स्टाफ को हिदायत है कि 12 बजे तक इलाके में बने रहेंगे. 6 से 9 के लिए फ्रेश स्टाफ लगाया जाएगा.

दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने सब-इंस्पेक्टर्स के रोल को महत्वपूर्ण बताया है और स्पष्ट कहा है कि SHOs उनसे काम लें. ग्रेजुएट सिपाहियों से इन्वेस्टिगेशन कराएं. मीटिंग में दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने पुलिस के रोहिणी कोर्ट में प्रॉम्प्ट एक्शन की तारीफ की है और पुलिस वर्क की भी साथ ही साथ में और प्रोफेशनल तरीके से काम करने की अपील की है.

Comments are closed.