सुवर्णमुखी नदी की बाढ़ में फंसे ग्रामीण को नौसेना ने बचाया

– नाइट विजन उपकरणों के साथ एक सीकिंग 42सी हेलीकॉप्टर लॉन्च किया गया
– राज्य प्रशासन ने नौसैनिक हेलीकॉप्टर उपलब्ध कराने के लिए मांगी थी मदद

नई दिल्ली। बंगाल की खाड़ी से लगभग 24 किलोमीटर पश्चिम में आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले में सुवर्णमुखी नदी के बीच बाढ़ में फंसे एक व्यक्ति को नौसेना ने रात में ऑपरेशन चलाकर सुरक्षित बचा लिया। उसके परिवार के अनुरोध पर खोज और बचाव (एसएआर) के लिए नाइट विजन उपकरणों के साथ एक सीकिंग 42सी हेलीकॉप्टर लॉन्च किया गया।

विजयनगरम जिले के वेंकटभैरवपलेम गांव के डी सिंहचलम (40) सोमवार को सुवर्णमुखी नदी की बाढ़ में फंस गए थे। उनके परिवार ने राज्य और प्रशासन को इसकी सूचना दी। इसके बाद राज्य प्रशासन के अधिकारियों ने सोमवार शाम लगभग 5:30 बजे भारतीय नौसेना से नौसैनिक हेलीकॉप्टर उपलब्ध कराने का आग्रह किया। इसके बाद इस ग्रामीण के खोज और बचाव (एसएआर) के लिए पूर्वी नौसेना कमान ने तुरंत आईएनएस देगा से एक उन्नत हल्का हेलीकॉप्टर (एएलएच) तैनात किया।

सुवर्णमुखी नदी में जहां सिंहचलम बाढ़ में फंसे थे, वह स्थान आईएनएस देगा से लगभग 120 किलोमीटर था। नौसेना का एएलएच हेलीकॉप्टर वहां पहुंचा पर खराब मौसम, भारी बारिश और अंधेरे के कारण ग्रामीण का पता नहीं लगा सका। इसके बाद रात लगभग 11 बजे बचाव अभियान शुरू करने के लिए उपयुक्त नाइट विजन उपकरणों के साथ एक सीकिंग 42सी हेलीकॉप्टर लॉन्च किया गया।

बरसात के मौसम और तेज हवाओं के बावजूद सीकिंग हेलीकॉप्टर ने खोजबीन की और ग्रामीण का पता लगाया। उसे बचाने के लिए हेलीकॉप्टर सुवर्णमुखी नदी में बहुत कम ऊंचाई पर मंडराया और रस्से के सहारे उसे हेलीकॉप्टर में उठा लिया। इसके बाद हेलीकॉप्टर आईएनएस देगा में लौट आया। वहां बचाए गए व्यक्ति को प्राथमिक उपचार प्रदान किया गया। इसके बाद में उसे चिकित्सा उपचार के लिए केजीएच स्थानांतरित कर दिया गया। उनके परिवार के सदस्यों को नौसेना वायु स्टेशन ने सूचित कर दिया है।

Comments are closed.