असम मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा उल्फा से बातचीत की तैयारी में, दिया ये बड़ा बयान

असम (Assam) के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Chief Minister Himanta Biswa Sarma) ने मंगलवार को कहा है कि असम सरकार (Assam Government) ने सरकार गठन के बाद उल्फा प्रमुख परेश बरुआ से कुछ संवाद बनाए रखा है। मैंने केंद्रीय गृहमंत्री (Union Home Minister) से पूछा कि ऐसी स्थिति उत्पन्न होने पर मैं उनसे (बरुआ- Barua) सीधे बात कर सकता हूं? उन्होंने कहा कि आप कर सकते हैं लेकिन यह एक स्ट्रक्चर्ड संवाद होना चाहिए।

इसलिए अभी तक मैंने केवल उनसे (बरुआ) फोन पर या अन्य माध्यम से बात करने की अनुमति ली है ताकि हम शांति प्रक्रिया (Peace Process) को आगे बढ़ा सकें। लेकिन वे बहुत प्रारंभिक बातें हैं, कोई निष्कर्ष नहीं निकाला जाना चाहिए और यह एक लंबा मामला होगा।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि असम (Assam) में कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Epidemic) के बिगड़ते हालातों के चलते इसी वर्ष मई के महीने में प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन यूनाइटेड लिब्रेशन फ्रंट ऑफ असोम (आई) (militant organization United Liberation Front of Asom) ने बीते शनिवार को 90 दिनों के लिए एकतरफा संघर्ष विराम (unilateral ceasefire) का ऐलान किया था। उल्फा (आई) (ULFA (I)) के इस ऐलान के बाद सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा था कि इससे असम में शांति के लिए अनुकूल माहौल बनेगा।

उग्रवादी समूह के कमांडर इन चीफ परेश बरूआ (Commander in Chief Paresh Barua) ने मीडिया संगठनों को भेजे ईमेल में कहा था कि वह तत्काल प्रभाव से संघर्ष विराम लागू कर रहे हैं। उनका संगठन इन 90 दिनों दौरान किसी घटना को अंजाम नहीं देंगे। बरुआ ने कहा कि हमने अगले 90 दिनों के लिए अपने सभी अभियानों को बंद रखने का फैसला लिया है। क्योंकि लोग कोरोना वायरस महामारी की वजह से बहुत परेशानी और दुख का सामना कर रहे हैं।

Comments are closed.