रक्षा बंधन पर बहन ने भाई को किडनी देकर दिया नया जीवन

देशभर में रक्षाबंधन का त्योहार बड़े धूमधाम से मनाया जा रहा है। बहन अपने भाई को रक्षा सूत्र बांधते हुए सदैव उसकी खुशी की भगवान से कामना कर रही है, लेकिन बांसवाड़ा की एक बहन ने अपने लंबी उम्र की कामना करने के साथ किडनी की बीमारी से ग्रस्त भाई को किडनी देकर खुद की जिंदगी को भी अपने भाई की रक्षा में लगा दिया।

गढ़ी क्षेत्र के साकरिया गांव निवासी डायालाल सुथार पिछले कई समय से किडनी की समस्या से लड़ रहे थे और समस्या इतनी बढ़ गई की डॉक्टर ने उन्हें किडनी ट्रांसप्लांट करने का बोल दिया। रक्षा बंधन के ठीक एक दिन पहले ही डायालाल की बहन आशा सुथार पत्नी सुरेश सुथार ने अपनी एक किडनी भाई को देने का निर्णय किया और अहमदाबाद के निजी हॉस्पिटल में उनका बुधवार को सफल ऑपरेशन हुआ। जब बहन आशा को भाई का अपरेशन सफल होने की जानकारी हुई तो उसकी आंखों में खुशी के आंसू निकल आए। उसके साथ ही ससुराल और पीहर पक्ष के परिजनों में खुशी की लहर दौड़ गई।

Comments are closed.