अस्पताल में पार्थ चटर्जी पर महिला ने फेंकी चप्पल

  • पार्थ को ईडी हिरासत में स्वास्थ्य जांच के लिए लाया गया था अस्पताल

कोलकाता। शिक्षक नियुक्ति भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी पर स्थानीय ईएसआई जोका अस्पताल में एक महिला ने चप्पल फेंकने मामला सामने आया है। मंगलवार को पार्थ को स्वास्थ्य जांच के लिए जोका अस्पताल लाया था। इस दौरान एक महिला ने पार्थ पर चप्पल फेंकी लेकिन तब तक वह गाड़ी में बैठ गए थे। महिला ने एक के बाद एक दोनों पैरों से चप्पल निकाल कर फेंकी लेकिन दोनों चप्पल गाड़ी में लगने के बाद नीचे गिर गयी।

महिला की पहचान सुभ्रा घोराई के रूप में हुई है। वह मूल रूप से उत्तर 24 परगना के आमतला की रहने वाली है। इसका जो वीडियो सामने आया है, उसमें देखा जा सकता है कि महिला ने सामान्य सूती की साड़ी पहनी है, सिर पर बिंदी लगी है, सिंदूर लगाया है और बालों को बांधकर चोटी बनाई है। वेशभूषा से वह सामान्य परिवार की महिला नजर आ रही है। उसकी एक बेटी है जो फिलहाल बारहवीं में पढ़ती है। बताया गया कि महिला भी स्वास्थ्य जांच के लिए अस्पताल आई थी। महिला ने कहा, ”इनके पास करोड़ों रुपये हैं। कोलकाता में कई जगह फ्लैट खरीदे हैं। बड़ी गाड़ियों में अस्पताल आ रहा है। इनकी वजह से डॉक्टर हमें समय से नहीं देख पा रहे हैं। इसलिए मैंने जूते (चप्पल) फेंके। अगर जूता उसके सिर पर लगता तो मुझे शांति मिलती।”

शुभ्रा ने एक सवाल के जवाब में कहा, ”यह हमारे गुस्से की अभिव्यक्ति है। हजारों लोगों को उसके भ्रष्टाचार की वजह से रोजगार नहीं मिला। उन सभी के गुस्से की अभिव्यक्ति है।” महिला ने आगे कहा, ‘मैं उसे जूते क्यों न मारूं? उसने गरीब लोगों के पैसे से कई फ्लैट खरीदा। अब मैं नंगे पांव ही घर जाऊंगी।’

Leave A Reply

Your email address will not be published.