बेरमो विधायक जयमंगल का फोटो असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के साथ वायरल

झारखंड कि राजनीती में ट्विस्ट
कैश कांड मामले में तीन कांग्रेसी विधायकों की पश्चिम बंगाल में 49 लाख रुपये के साथ गिरफ्तारी को लेकर उस समय नया मोड़ आया था, जब बेरमो के कांग्रेस विधायक कुमार जयमंगल उर्फ अनुप सिंह ने अरगोड़ा थाने में एक शिकायत दर्ज करायी थी। इसमें उन्होंने कहा है कि डॉ इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन विक्सल कोंगारी ने उन्हें कोलकाता आने और वहां से गुवाहाटी चलने के लिए फोन किया था। इन तीनों विधायकों ने 10 करोड़ रुपये और झारखंड में बननेवाली नयी सरकार में मंत्री पद दिलाने का भी प्रलोभन दिया। शिकायत में कहा गया है कि झारखंड में सरकार गिराने की साजिश में असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा भी शामिल है। इसमें अनुप सिंह ने कहा है कि राजेश कच्छप और विक्सल कोंगारी मुझे कोलकाता बुला रहे थे और प्रति विधायक 10 करोड़ रुपये देने की बात कह रहे थे। उन्होंने कहा है कि इरफान अंसारी और राजेश कच्छप चाहते थे कि मैं कोलकाता आउं और वहां से उनके साथ गुवाहाटी जाउं। उनके अनुसार वे मेरी मुलाकात असम के सीएम हिमंत बिस्वा शर्मा से कराते और मंत्री पद के लिए आश्वस्त करते।

लेकिन आज सुबह ही इस मामले में नया ट्विस्ट आ गया है। । एफआईआर कराने वाले बेरमो विधायक कुमार जयमंगल सिंह की एक तस्वीर वायरल हो रही है। उस तस्वीर में जयमंगल खुद असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के साथ मुलाकात करते दिख रहे हैं। असम के जल संससाधन मंत्री पीजूश हजारिका ने इस तस्वीर को ट्वीट किया है। साथ ही लिखा है कि कुमार जयमंगल हिमंत बिस्वा सरमा से कई बार मिलते रहे हैं। उनके द्वारा हिमंत बिस्वा सरमा पर लगाया गया आरोप बेबुनियाद है, फेक है। ट्वीट में आगे लिखा है कि फर्जी एफआइआर के पांच दिन पहले ट्रेड यूनियन मामले को लेकर, मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने अनूप सिंह कि मुलाकात कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी से करवाई थी। अब यह ट्वीट वायरल हो रहा है।

लोग सवाल पूछ रहे हैं कि यह रिश्ता क्या कहलाता है। इस एक ट्वीट ने झारखण्ड कि राजनीती में एक नया ट्विस्ट जोड़ दिया है। अब देखना दिलजस्प होगा कि इस तस्वीर के पीछे कि कहानी कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह क्या बताते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.