साठ हजारी हुआ सेंसेक्स, निफ्टी भी 17,900 पार

नई दिल्ली। लगातार जारी लिवाली के कारण शेयर बाजार में आज एक बार फिर तेजी का रुख है। खरीदारी के सपोर्ट से सेंसेक्स ने 5 अप्रैल के बाद आज पहली बार 60 हजार अंक के दायरे को पार करने में सफलता हासिल की है। पिछले एक महीने के कारोबार में ही सेंसेक्स लगभग 12 प्रतिशत की बढ़त के साथ 5,500 अंक से अधिक चढ़ चुका है। सेंसेक्स की तरह ही निफ्टी भी 6 अप्रैल के बाद पहली बार 17,900 अंक के दायरे को पार करने में सफल रहा है।

शुरुआती कारोबार में एनटीपीसी, बजाज फिनसर्व, बजाज फाइनेंस, एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस और आयशर मोटर्स के शेयरों में तेजी का रुख है। अपोलो हॉस्पिटल, महिंद्रा एंड महिंद्रा, ओएनजीसी, सिप्ला और टाटा स्टील के शेयर बिकवाली के दबाव में हैं। मिले-जुले ग्लोबल संकेतों के बीच बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के सेंसेक्स ने आज 95.84 अंक की मामूली बढ़त के साथ 59,938.05 अंक के स्तर से कारोबार की शुरुआत की।

शेयर बाजार में लगातार हो रही खरीद बिक्री के बीच शुरुआती 1 घंटे का कारोबार होने के बाद सुबह 10:15 बजे सेंसेक्स 286.59 अंक की तेजी के साथ 60,128.80 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी ने भी आज 42.90 अंक की सामान्य मजबूती के साथ 17,868.15 अंक के स्तर पर कारोबार की शुरुआत की।

निफ्टी 5 अप्रैल के बाद पहली बार 17,900 अंक के दायरे में पहुंच गया। बाजार में लिवाली का जोर कायम रहने के कारण निफ्टी की गति भी शुरुआती कारोबार में लगातार तेज बनी हुई थी। लगातार हो रही खरीदारी और बिकवाली के बीच शुरुआती 1 घंटे का कारोबार होने के बाद सुबह 10:15 बजे निफ्टी 84.05 अंक की तेजी के साथ 17,909.30 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा था।

मिलेजुले वैश्विक संकेतों के कारण प्री ओपनिंग सेशन में आज घरेलू शेयर बाजार ने सपाट स्तर पर कारोबार की शुरुआत की। इस सेशन में बीएसई का सेंसेक्स 95.84 अंक यानी 0.16 प्रतिशत की तेजी के साथ 59,938.05 अंक के स्तर पर रहा। वहीं निफ्टी प्री ओपनिंग सेशन में 42.90 अंक यानी 0.24 प्रतिशत मजबूत होकर 17,868.15 अंक के स्तर पर पहुंच गया।

पिछले कारोबारी दिन मंगलवार को सेंसेक्स 379.43 अंक यानी 0.64 प्रतिशत की मजबूती के साथ 59,842.21 अंक के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी ने 127.10 अंक यानी 0.72 प्रतिशत की बढ़त के साथ 17,825.25 अंक के स्तर पर मंगलवार के कारोबार का अंत किया था।

Comments are closed.