उप्र ने कायम की मिसाल, वैक्सीनेशन सात करोड़ के पार

  • -सर्वाधिक आबादी वाले प्रदेश में एक दिन में 30 लाख से अधिक को दी गई डोज
  • -टीकाकरण में महाराष्ट्र, दिल्ली और आंध्र प्रदेश से आगे निकला यूपी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश ने कोरोना टीकाकरण में दूसरे प्रदेशों को पीछे छोड़ते हुए अपने नाम एक नया रिकार्ड हासिल किया है। महाराष्ट्र, दिल्ली,आंध्र प्रदेश, वेस्ट बंगाल समेत दूसरे कई राज्यों से आगे निकल 7 करोड़ से अधिक टीकाकरण की डोज दी हैं। यह आंकड़ा देश के दूसरे प्रदेशों से कहीं अधिक है।

अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि उत्तर प्रदेश टीकाकरण के साथ ही सर्वाधिक जांच करने वाला प्रदेश है। ट्रिपल टी की रणनीति व टीकाकरण से यूपी में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर नियंत्रण में हैं। प्रदेश में वृहद टीकाकरण अभियान के तहत ‘सबका साथ, सबका विकास, सबको वैक्सीन, मुफ्त वैक्सीन’ के मूल मंत्र पर टीकाकरण किया जा रहा है। प्रदेश में वैक्सीन की पहली खुराक 5 करोड़ 90 लाख से अधिक और वैक्सीन की दूसरी डोज 1 करोड़ 11 लाख से अधिक को दी जा चुकी है। मेगा वैक्सीनेशन ड्राइव के तहत यूपी में एक दिन में 30 लाख से अधिक डोज दी गई। जिसमें एक दिन में सर्वाधिक टीकाकरण कर यूपी देश के दूसरे प्रदेशों के समक्ष नजीर पेश की।

उप्र: महाराष्ट्र, दिल्ली और अन्य प्रदेशों से टीकाकरण में अव्वल
24 करोड़ के आबादी वाले उत्तर प्रदेश से देश के दूसरे प्रदेश टीकाकरण में कहीं पीछे हैं। वेस्ट बंगाल, महाराष्ट्र, दिल्ली समेत अन्य प्रदेशों में जहां काम आबादी होने के बावजूद टीकाकरण धीमी गति से चल रहा कहीं यूपी लगातार रिकॉर्ड बना रहा है। वेस्ट बंगाल में अब तक 3 करोड़,88 लाख, 18 हजार, 895 केरल में 2 करोड़, 78 लाख, 63 हजार, 770 महाराष्ट्र में 5 करोड़, 66 लाख, 99 हजार, 572 दिल्ली में 1 करोड़, 31 लाख, 49 हजार, 889 और तमिलनाडु 3 करोड़, 10 लाख, 20हजार, 485 ही वैक्सीनेशन किया गया है।

लक्ष्य के करीब पहुंचा उत्तर प्रदेश
श्री सहगल ने बताया कि यूपी में टीकाकरण अभियान को गति देते हुए शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में युद्धस्तर पर टीकाकरण किया जा रहा है। तीन अगस्त को यूपी ने पांच करोड़ टीकाकरण कर एक कीर्तिमान बनाया था, वहीं यूपी ने सात करोड़ टीकाकरण कर अपने निर्धारित टीकाकरण लक्ष्य की ओर तेजी से आगे बढ़ रहा है। मिशन जून के तहत प्रदेश सरकार ने एक करोड़ लोगों को वैक्सीन की डोज लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया था लेकिन प्रदेश में इससे कहीं अधिक एक करोड़ 29 हजार टीके की डोज दी गई।

Comments are closed.