शिवसेना सांसद संजय राउत के घर इडी का छापा

पात्रा चॉल घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। रविवार सुबह 7 बजे ईडी की टीम राउत के भांडुप स्थित घर पर पहुंची। पिछले 3 घंटे से उनके घर पर ईडी की छापेमारी जारी है।  आरोप है कि गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन को पात्रा चॉल को पुनर्विकसित करने का काम महाडा ने दिया था। मुंबई के गोरेगांव में 47 एकड़ में 672 किरायेदारों के घर पुनर्विकसित होने थे। गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन ने महाडा को गुमराह किया और बिना फ्लैट बनाये ही यह जमीन 9 बिल्डरों को 901.79 करोड़ रुपये में बेच दी। इस मामले में संजय राउत भी निशाने पर हैं।

संजय राऊत ने ट्वीट कर बताया कि वे ईडी को सहयोग कर रहे हैं। उनके घर पर ईडी की कार्रवाई झूठी शिकायत के आधार पर की जा रही है। वे बालासाहेब ठाकरे के सच्चे शिवसैनिक हैं। ईडी की कार्रवाई का सामना बिना डरे करेंगे, लेकिन आत्मसमर्पण नहीं करेंगे। घर की खिड़की से संजय राऊत के भाई सुनील राऊत ने मीडिया को बताया कि घर में 10 ईडी अधिकारी मौजूद हैं और तलाशी ले रहे हैं। परिवार ईडी को हर तरह का सहयोग कर रहा है।

इस बीच संजय राऊत के घर पर ईडी की कार्रवाई की भनक लगते ही शिवसैनिकों की भीड़ जमा हो गई है। इलाके के डीसीपी प्रशांत कदम मौके पर हैं। कानून व्यवस्था की स्थिति न बिगड़े , इसका प्रयास कर रहे हैं। पुलिस शिवसैनिकों को दूर करने का प्रयास कर रही है।

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष किरीट सोमैया ने पत्रकारों को बताया कि संजय राऊत को गोरेगांव पत्राचाल घोटाले की जांच में जवाब देना होगा। उन्हें ईडी गिरफ्तार कर सकती है। इसका कारण उन्हें चार बार ईडी ने नोटिस जारी किया। वे ईडी के समक्ष उपस्थित नहीं हुए थे। किरीट सोमैया ने बताया कि इस मामले में सदगुरु आशीष कंपनी के संचालक प्रवीण राऊत को ईडी गिरफ्तार कर चुकी है और प्रवीण राऊत न्यायिक कस्टडी में हैं। प्रवीण राऊत तथा संजय राऊत के बीच पैसे का आदान-प्रदान हुआ है। इसी पैसे से संजय राऊत ने जमीन खरीदी। उसे ईडी जब्त कर चुका है।

शिंदे समूह के विधायक संजय सिरशाट ने बताया कि ईडी की यह कार्रवाई पिछले छह महीने से चल रही थी। संजय राऊत को चार बार समन जारी किया गया, वे हाजिर नहीं हुए थे। इसलिए ईडी अब इस मामले की जांच कर रहा है। संजय राऊत ने शिवसेना तोड़ने काम किया। इसलिए वे ईडी की कार्रवाई से खुश नहीं हैं।उल्लेखनीय है कि ईडी गोरेगांव में स्थित पत्राचाल पुनर्विकास योजना में हुए 1034 करोड़ रुपये के कथित घोटाले की जांच कर रहा है। इस मामले में ईडी प्रवीण राऊत तथा संजय राऊत की संपत्ति जब्त कर चुकी है।

ईडी की दबीस के बाद संजय राउत ने ट्वीट कर कहा कि ‘मैं बाला साहेब की कसम खाता हूं। मेरा इस घोटाले से कोई लेना-देना नहीं है। राउत ने आगे कहा कि उन्होंने (बाला साहेब) हमें लड़ना सिखाया है और हम शिवसेना के लिए लड़ते रहेंगे।

राउत ने कहा कि झूठी कार्रवाई, झूठे सबूत के बाद भी मैं शिवसेना नहीं छोड़ूंगा। अगर मैं मर भी जाऊं तो समर्पण नहीं करूंगा। संजय राउत के घर ईडी की टीम पहुंचने के बाद उनके समर्थकों का जमावड़ा भी लग गया है। समर्थक ईडी और भाजपा के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। वहीं मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की शिवसेना के विधायक संजय शिरसाट ने कहा कि जो व्यक्ति गुवाहाटी से हमारी डेड बॉडी लाने की बात कर रहा था, वह आज परेशान है। भगवान के घर देर है अंधेर नहीं, जैसी करनी वैसी भरनी।

संजय राउत के घर के बाहर समर्थकों की भीड़ देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा घेरा बढ़ा दिया है। ईडी का कहना है कि जरूरत पड़ी तो संजय राउत को ईडी कार्यालय भी ले जाया जायेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.