19.31 करोड़ किसके, नहीं मिला जवाब, पूजा सिंघल की बढ़ीं मुश्किलें, नौ घंटे हुई पूछताछ

आजाद सिपाही संवाददाता
रांची। आइएएस पूजा सिंघल पर प्रवर्तन निदेशालय (इडी) का शिकंजा कसता जा रहा है। इडी ने पूजा को मंगलवार को पूछताछ के लिए बुलाया था। उनके अलावा पति अभिषेक झा और सीए सुमन कुमार से भी तीसरे दिन पूछताछ जारी रहा। पूजा सुबह 11 बजे अपने पति अभिषेक के साथ इडी कार्यालय पहुंची। उधर, गिरफ्तार सीए सुमन वहां पहले से मौजूद थे। इडी के अधिकारियों ने तीनों से कभी अलग-अलग पूछताछ की, तो कभी साथ रख कर कई सवाल किये गये। पूजा और अभिषेक से नौ घंटे पूछताछ हुईं। दोनों रात आठ बजे इडी कार्यालय से निकले।
सूत्रों की मानें तो 19.31 करोड़ रुपये किसके हैं, इडी को इसका जवाब अभी तक नहीं मिल पाया है। पूजा सिंघल ने मनरेगा मामले में विभाग से क्लीन चिट मिलने की बात बतायी, लेकिन आय से अधिक संपत्ति मामले में असहज हो गयीं। बुधवार को फिर पूछताछ हो सकती है।

सुमन ने कहा घर से प्राप्त पैसे उसके नहीं
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सीए सुमन कुमार ने इडी के समक्ष कहा है कि जो करोड़ों रुपये घर से बरामद हुए हैं, वे उसके नहीं है। हालांकि वह रुपये किसके हैं, इसका अभी तक सुमन ने स्पष्ट जवाब नहीं दिया है। इडी ने पूजा और अभिषेक से भी उस राशि के बारे में पूछताछ की है।

जब्त दस्तावेज लाये गये इडी दफ्तर
पूरे प्रकरण में इडी की जांच तेज गति से चल रही है। पूछताछ के दौरान ही सुमन और पूजा सिंघल के घर, अस्पताल और दफ्तर से जब्त कागजातों को भी इडी दफ्तर लाया गया। पूछताछ के लिए इडी ने शेल कंपनियों से जुड़े दस्तावेज भी मंगाये। पूजा सिंघल, अभिषेक झा और सुमन तीनों से इडी ने शेल कंपनियों को लेकर भी पूछताछ की। शेल कंपनी से संबंधित जानकारी के लिए इडी ने इवैल्यूएटर को भी बुलाया। उनसे सुमन और उसके भाई से जुड़ी कंपनियों की जानकारी ली जा रही है।

पूजा ने कार्मिक को भेजा छुट्टी का आवेदन
आइएएस पूजा सिंघल 31 मई तक छुट्टी पर चली गयी हैं। उन्होंने कार्मिक विभाग को इसका आवेदन दिया है। हालांकि अगर पूजा को इडी गिरफ्तार करती है, तो उनका निलंबन निश्चय है। वैसे चर्चा है कि बुधवार को होने वाली राज्य सरकार की कैबिनेट की बैठक में पूजा सिंघल के निलंबन का फैसला ले लिया जायेगा। सरकार उन्ह पहले ही निलंबति कर देगी।

चर्चा में है काली डायरी
इडी छापेमारी के बाद से एक काली डायरी की चर्चा का बाजार गर्म है। चर्चा है कि पूजा सिंघल के आवास से इडी को एक काली डायरी हाथ लगी है। इसमें कई नेताऔं और अधिकारियों के नाम दर्ज हैं। इडी इसका राज तलाशने में लगी है। साथ ही पूजा से पूछताछ के दौरान उनका मोबाइल फोन जब्त करने और उसके कॉल डिटेल, वाट्स एप मैसेज और अन्य चीजों को खंगालने के भी प्रयास किये जाने चर्चा है। इसके अलावा ब्यूरोक्रेसी में पूजा की मदद करने वाले लोगों में हड़कप मचने और उनके बीच बैठक होने की बात भी सामने आ रही है। हालांकि आजाद सिपाही इन चर्चा वाली बातों की पुष्टि नहीं करता है। लेकिन ज्यों-ज्यों जांच प्रक्रिया बढ़ रही है, एक के बाद एक खुलासे हो रहे हैं। इसी के साथ चर्चाओं का बाजार भी गर्म होता जा रहा है। कहते हैं आग के बिना धुआं नहीं निकलता है। इसलिए चर्चाएं भी बगैर किसी बात के नहीं होती है। इन सभी की पुष्टि तो आने वाले वक्त में होगी।

सूत्रों के मुताबिक इडी ने पूजा सिंघल से पूछे ये सवाल
* आपके ऊपर मनरेगा घोटाले के जो आरोप लगे हैं, इस मामले पर क्या पक्ष है?
*आपके एकाउंट में वेतन से अधिक राशि कहां से आयी थी?
* सीए सुमन कुमार के पास मिले पैसे की आपको जानकारी थी?
* क्या ये पैसे आपके या आपके पति के हैं?
* क्या आपने अपने पति के अस्पताल में निवेश किया है?
*आपने सीए के एकाउंट में वर्ष 2015 से 2017 तक पैसे क्यों ट्रांसफर किये थे?
* शेल कंपनी चलाने वालों में कई व्यक्तियों के नाम आये हैं, क्या आप उन लोगों को जानती हैं?
*पॉलिसी में कहां से 80 लाख रुपये इन्वेस्ट किये गये थे?
*पॉलिसी मैच्योर होने से पहले क्यों बंद की गयी?
*पल्स अस्पताल निर्माण में आपने कोई राशि लगायी है?

Leave A Reply

Your email address will not be published.