नेपाल-भारत प्रधानमंत्री की द्विपक्षीय वार्ता में सीमा विवाद पर हुई चर्चा

नई दिल्ली। नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के साथ आज द्विपक्षीय वार्ता में उन्होंने सीमा संबंधी मुद्दों को उठाया और उनसे पहले से स्थापित तंत्र के माध्यम से समाधान इसका समाधान करने का आग्रह किया।

प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को दिल्ली के हैदराबाद हाउस में मेहमान नेता नेपाली प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के साथ द्विपक्षीय प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता की।

वार्ता के बाद प्रधानमंत्री मोदी के साथ संयुक्त वक्तव्य में मेहमान नेता ने कहा कि दोनों पक्षों की वार्ता सौहार्दपूर्ण और बेहद उपयोगी रही है। हमने दोनों देशों के संबंधों के विभिन्न आयामों पर चर्चा की और इस मित्रता को मजबूत करने को लेकर अपनी समझ साझा की है।

इस दौरान देउबा ने नेपाल और नेपाली लोगों के लिए प्रधानमंत्री मोदी के प्रेम और स्नेह की की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजनरी नेतृत्व में भारत की प्रगति के वह प्रशंसक हैं। भारत ने बेहतर ढंग से कोविड महामारी का सामना किया है और नेपाल को वैक्सीन, दवायें और मेडिकल उपकरण के रूप में सहायता की है।

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने नेपाल को भारत का सुख-दुख का साथी बताया और कहा कि हमारी दोस्ती की मिसाल दुनिया में और कहीं देखने को नहीं मिलती। इस दौरान प्रधानमंत्री ने मेहमान नेता की वाराणसी यात्रा का भी जिक्र किया। उन्होंने कहाकि देउबा कल काशी में होंगे। नेपाल और बनारस का सदियों पुराना सम्बन्ध रहा है।मुझे पूरा विश्वास है कि काशी के नए स्वरुप को देखकर प्रधानमंत्री देउबा जरूर प्रभावित होंगे।

Comments are closed.