केंद्रीय मंत्रियों के झारखंड दौरे को लेकर निर्वाचन आयोग से मिला झामुमो और कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल

झारखंड में केंद्रीय मंत्रियों के भ्रमण को लेकर प्रदेश कांग्रेस और झामुमो के नेताओं ने शनिवार को राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव राधेश्याम प्रसाद से मुलाकात की। नेताओं ने कहा कि केंद्रीय मंत्रियों का राज्य भ्रमण चुनाव आचार संहिता के विरुद्ध है।

झामुमो नेता विनोद पांडेय और कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने बताया कि राज्य में केंद्रीय मंत्रियों के सरकारी दौरे पर आपत्ति जताते हुए राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव से मिलकर उन्हें आवेदन सौंप कर शिकायत की गई है। नेताओं ने कहा है कि भारत सरकार के कई मंत्रियों का आगामी एक पखवारे में 19 जिलों में प्रवास एवं राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ बैठक का कार्यक्रम तय किया गया है, जो सर्वथा अनुचित एवं राज्य में लागू चुनाव आचार संहिता के विरुद्ध है। दोनों दलों के नेताओं ने राज्य निर्वाचन आयोग से भारत सरकार के मंत्रियों की राज्य भ्रमण एवं प्रवास कार्यक्रम को तत्काल स्थगित करने की मांग की है। नेताओं ने कहा कि उक्त सभी मंत्री जिला स्तरीय पदाधिकारियों के बैठक के साथ-साथ अपनी राजनीतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी के कार्यक्रमों में भी भागीदारी रहेगी, जिससे आसन्न त्रिस्तरीय ग्राम पंचायत चुनाव प्रत्यक्ष तौर पर प्रभावित होगी। आचार संहिता में निहित बंदिशों का हवाला देते हुए नेताओं ने कहा कि परिषद के चुनाव के लिए राज्य के राजनीतिक दल के निर्वाचित जन प्रतिनिधियों को निर्वाचन के सभी प्रकार के प्रचार कार्य से दूर रखा गया है। आचार संहिता के तहत राज्य सरकार को अपरिहार्य कारणों को छोड़ कर किसी भी प्रकार के जन कल्याणकारी योजना की घोषणा अथवा आश्वासन पर भी रोक लगाई गई है। निर्वाचन प्रक्रिया सम्पन्न होने तक आदर्श चुनाव आचार संहिता अस्तित्व में रहेगी।

Comments are closed.