दुमका में चल रही थी गन फैक्ट्री, कोलकाता एसटीएफ ने पकड़ा

कोलकाता एसटीएफ ने महिला समेत छह को किया गिरफ्तार

दुमका। जिले में कोलकाता एसटीएफ ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से शनिवार को मिनी गन फैक्ट्री का खुलासा किया है। इस दौरान अर्धनिर्मित हथियार के साथ गन बनाने वाली मशीन भी बरामद की गयी है। मौके पर एक महिला समेत छह आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। इस कार्रवाई के लिए कोलकाता एसटीएफ की 15 सदस्यीय टीम दुमका पहुंची हुई है।

कोलकाता की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की टीम ने के दुमका में स्थानीय पुलिस के सहयोग से दुमका मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सरुवा गांव में एक दो मंजिला घर से अर्धनिर्मित मिनी गन फैक्ट्री का खुलासा किया है। बंगाल की कोलकाता स्पेशल टास्क फोर्स और दुमका मुफस्सिल थाना पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में सात-एमएम की 25 निर्मित पिस्तौल के अलावा भारी मात्रा में अर्धनिर्मित हथियार के साथ गन बनाने वाली मशीन बरामद हुई है। पुलिस लगातार जांच कर रही है। गन फैक्ट्री में काम कर रहे कई लोगों को पुलिस ने पकड़ा है।

कोलकाता एसटीएफ की 15 सदस्यीय टीम दुमका में
जानकारी के अनुसार कोलकाता टास्क फोर्स के द्वारा कोलकाता में राजेन्द्र प्रसाद उर्फ मकबूल हुसैन को पिस्तौल के साथ गिरफ्तार किया गया था। उससे पूछताछ में यह खुलासा हुआ था। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। कार्रवाई के लिए कोलकाता एसटीएफ की 15 सदस्यीय टीम दुमका पहुंची हुई है।

महिला समेत छह गिरफ्तार
इस मामले में कोलकाता पुलिस ने मिनी गन फैक्ट्री में कार्य कर रहे पांच मजदूर सहित एक महिला को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि सभी मजदूर मुंगेर जिला के रहने वाले हैं। पुलिस उनसे इस गैंग में शामिल अन्य अपराधियों और उसके किंगपिन के बारे में जानकारी जुटा रही है। मकान में पिस्तौल निर्माण के लिए आधा दर्जन मशीन भी लगी हुई है। पिस्तौल बनाए जाने के लिए बड़ी मात्रा में लोहे के बार भी बरामद हुए हैं, जिससे हजारों पिस्तौल बनायी जा सकती थी। बताया जाता है कि गिरफ्तार महिला द्वारा ही कुछ दिन पूर्व मकान खरीद कारोबार किया जा रहा था। पुलिस को रवि कुमार नामक शख्स की तलाश है। जिसने कुछ दिन पहले ही यहां मकान बनाकर कारोबार शुरू किया था।

Comments are closed.