रूपा तिर्की के पिता का नार्को और ब्रेन मैपिंग टेस्ट करा सकती है सीबीआई

रांची। साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की की मौत मामले की जांच सीबीआई कर रही है। सीबीआई की पटना शाखा ने रूपा तिर्की के पिता देवानंद उरांव को एक पत्र जारी किया है। पत्र में देवानंद उरांव से झूठ का पता लगाने, ब्रेन मैपिंग और नार्को टेस्ट के लिए अपनी सहमति देने का अनुरोध किया गया है। यह पत्र मामले के जांच कर रहे अधिकारी गौतम कुमार अंशु ने लिखा है।
सीबीआई की ओर से देवानंद उरांव को लिखे पत्र में कहा गया है कि आपको सूचित किया जाता है कि इस मामले की जांच के दौरान आप पर कुछ वैज्ञानिक परीक्षणों की आवश्यकता है जैसे झूठ का पता लगाना, मस्तिष्क मानचित्रण और नार्को-विश्लेषण परीक्षण। इसके लिए आपकी सहमति जरूरी है। यदि आप सहमति देते हैं तो दी गई तिथि और स्थान पर आपको विशेषज्ञ के समक्ष उपस्थित होना होगा। आपसे अनुरोध है कि कृपया जांच के हित में अपनी स्वैच्छिक सहमति दें। पत्र बीते 11 अप्रैल को लिखा गया है।
उल्लेखनीय है कि दरोगा रूपा तिर्की का शव तीन मई 2021 की सुबह सरकारी क्वार्टर में लटकी हुई पाई गई थी। पुलिस ने मामले में सहयोगी शिव कुमार कनौजिया को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया था। लेकिन रुपा तिर्की के पिता देवानंद उरांव ने आरोप लगाया था कि उनकी बेटी की कुछ प्रभावशाली व्यक्तियों ने हत्या कर दी और झारखंड हाई कोर्ट में सीबीआई जांच के लिए एक याचिका दायर की थी। न्यायमूर्ति संजय कुमार द्विवेदी की एकल पीठ ने रिट याचिका 139/2021 पर सुनवाई करते हुए सीबीआई जांच के आदेश दिए थे। मामले में सीबीआई की टीम परिजनों से भी पूछताछ की थी।

Comments are closed.