उप्र में अंतिम चरण का मतदान सोमवार को, नौ जिले की 54 सीटों पर पड़ेंगे वोट

-सातवें चरण में 75 महिला प्रत्याशी समेत कुल 613 उम्मीदवार मैदान में
-2.06 करोड़ मतदाता करेंगे मुख्यमंत्री योगी समेत कई दिग्गजों के भाग्य का फैसला
-चुनाव आयोग की तैयारियां पूरी, पोलिंग पार्टियां रवाना : मुख्य निर्वाचन अधिकारी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 18वीं विधानसभा के लिए हो रहे चुनाव में सातवें व अंतिम चरण के नौ जिलों की 54 सीटों पर सोमवार को मतदान होगा। इस चरण में 75 महिला प्रत्याशी समेत कुल 613 उम्मीदवार चुनाव मैंदान में हैं। अंतिम चरण में 2.06 करोड़ मतदाता इन सभी उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे।

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने रविवार को यहां बताया कि सोमवार को प्रातः 7.00 बजे से सायं 6.00 बजे तक कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सातवें चरण का मतदान होगा। हालांकि इस चरण के तीन सीट चकिया (अ0जा0), राबर्ट्सगंज और दुद्धी (अ0ज0जा0) पर मतदान सुबह सात बजे से अपराह्न चार बजे तक ही होगा।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि अंतिम चरण की 54 विधानसभा सीटों में से 11 सीटें अनुसूचित जाति एवं 02 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। इस चरण में कुल 613 उम्मीदवार चुनावी मैंदान में हैं। इनमें सबसे अधिक 25 प्रत्याशी जौनपुर सीट पर और सबसे कम छह-छह उम्मीदवार वाराणसी की शिवपुर और पिंडरा सीट के लिए हैं। सातवें चरण में कुल 2.06 करोड़ मतदाता हैं। इसमें 1.09 करोड़ पुरुष, 97.08 लाख महिला तथा 1027 तृतीय लिंग के मतदाता शामिल हैं।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इस चरण के मतदान को भी स्वतंत्र, निष्पक्ष, पारदर्शी एवं कोविड सुरक्षित तरीके से सम्पन्न कराने हेतु आवश्यक तैयारियों एवं व्यवस्थाओं के लिए निर्देश दिए गए हैं। पोलिंग बूथों पर आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि पोलिंग पार्टियां मतदान केंद्रों पर आज शाम तक पहुंच जाएंगी।

1621 सेक्टर और 195 जोनल मजिस्ट्रेट तैनात
उन्होंने बताया कि मतदान पर सतर्क दृष्टि रखने के लिये चुनाव आयोग द्वारा इस चरण में 52 सामान्य प्रेक्षक, 09 पुलिस प्रेक्षक तथा 17 व्यय प्रेक्षक भी तैनात किये गये हैं। इसके अलावा 1621 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 195 जोनल मजिस्ट्रेट, 222 स्टैटिक मजिस्ट्रेट तथा 2196 माइक्रो ऑब्जर्वर भी तैनात किये गये हैं। मतदान पर पर्यवेक्षण हेतु प्रत्येक जनपद के 50 प्रतिशत मतदेय स्थलों पर लाइव वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई है।

सातवें चरण में कुल 23614 मतदेय स्थल
श्री शुक्ला ने बताया कि इस चरण में मतदान के लिए 12210 मतदान केंद्र और 23614 मतदेय स्थल बनाये गये हैं। इनमें 548 आदर्श मतदान केंद्र तथा 81 समस्त महिला कर्मी मतदेय स्थल हैं। चुनाव प्रक्रिया को सम्पन्न कराने के लिए कुल 104058 मतदान कार्मिक लगाये गये हैं।

मतदान के लिए मतदाता पहचान पत्र के अलावा 12 अन्य विकल्प
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि निर्वाचन आयोग के निर्देशों के क्रम में मतदाता पहचान पत्र के अतिरिक्त 12 अन्य पहचान पत्र, जैसे आधार कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, बैंकों व डाकघरों द्वारा जारी किए गए फोटोयुक्त पासबुक, श्रम मंत्रालय की योजना के अन्तर्गत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, एनपीआर के अंतर्गत आरजीआई द्वारा जारी किए गए स्मार्ट कार्ड, भारतीय पासपोर्ट, फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज, केन्द्र अथवा राज्य सरकार, लोक उपक्रम, पब्लिक लिमिटेड कम्पनियों द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किए गए फोटोयुक्त सेवा पहचान-पत्र और सांसदों, विधायकों एवं विधान परिषद् सदस्यों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र, यूनिक डिसएबिलिटी आईडी (यूडीआईडी) कार्ड, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार) मतदेय स्थलांे पर मतदाताओं की पहचान किये जाने हेतु मान्य होंगे।

कोविड प्रोटोकॉल के तहत होगा मतदान
श्री शुक्ला ने बताया कि कोविड-19 के दृष्टिगत मतदान के समय मतदेय स्थलों पर थर्मल स्कैनर, हैण्ड सैनीटाइजर, ग्लव्स, फेस मास्क, फेस शील्ड, पीपीई किट, साबुन, पानी आदि की पर्याप्त मात्रा में व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि मतदाताओं की सुविधा हेतु वोटर गाइड का भी वितरण किया गया है। इसमें कोविड-19 से सम्बन्धित डूज एण्ड डोण्ट्स का भी उल्लेख किया गया है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी के अनुसार कोविड-19 के दृष्टिगत निर्वाचन आयोग द्वारा मतदेय स्थलों पर मतदाताओं की अधिकतम संख्या 1250 तक रखने के निर्देश दिये गये हैं। सभी मतदेय स्थलों पर रैम्प, शौचालय तथा पीने के पानी की सुविधा सुनिश्चित की गई है। मतदान की अवधि में सभी बीएलओ को निर्देश दिये गये हैं कि वे मतदाता सूची के साथ हेल्प डेस्क पर उपस्थित रहेंगे एवं आने वाले मतदाताओं की सहायता करेंगे। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सभी मतदाताओं से अपने मताधिकार का उपयोग करते हुए मतदान करने की अपील भी की है।

इन नौ जिलों में है अंतिम चरण का मतदान
आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, गाजीपुर, चन्दौली, वाराणसी, मिर्जापुर, भदोही एवं सोनभद्र की 54 विधानसभा क्षेत्रों में सातवेेें यानि अंतिम चरण का मतदान है।

सातवें चरण की सीटें
सातवें चरण की 54 विधानसभा सीटों में अतरौलिया, गोपालपुर, सगड़ी, मुबारकपुर, आजमगढ़, निजामाबाद, फूलपुर-पवई, दीदारगंज, लालगंज (अ.जा.), मेहनगर (अ.जा.), मधुबन, घोसी, मुहम्मदाबाद-गोहना (अ.जा.), मऊ, बदलापुर, शाहगंज, जौनपुर, मल्हनी, मुंगरा बादशाहपुर, मछलीशहर (अ.जा.), मड़ियाहू, जफराबाद, केराकत (अ.जा.), जखनियां (अ.जा.), सैदपुर (अ.जा.), गाजीपुर, जंगीपुर, जहूराबाद, मोहम्मदाबाद, जमानिया, मुगलसराय, सकलडीहा, सैयदराजा, चकिया (अ.जा.), पिण्ड्रा, अजगरा (अ.जा.), शिवपुर, रोहनिया, वाराणसी उत्तर, वाराणसी दक्षिण, वाराणसी कैन्ट, सेवापुरी, भदोही, ज्ञानपुर, औराई (अ.जा.), छानबे (अ.जा.), मिर्जापुर, मझवां, चुनार, मड़िहान, घोरावल, राबर्ट्सगंज, ओबरा (अ.ज.जा.) एवं दुद्धी (अ.ज.जा.) शामिल हैं।

अंतिम चरण में कई मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर
सातवें चरण के मतदान में योगी सरकार के आठ मंत्रियों की परीक्षा होगी। हालांकि इनमें से एक मंत्री, दारा सिंह चैहान मंत्रिमंडल से इस्तीफा देकर सपा के टिकट से मऊ की घोसी सीट से चुनाव मैदान में हैं। शेष सात मंत्रियों में कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर वाराणसी की शिवपुर सीट से फिर किस्मत आजमा रहे हैं। वहीं स्वतंत्र प्रभार के पर्यटन राज्य मंत्री डाॅ. नीलकंठ तिवारी वाराणसी दक्षिणी, स्टांप एवं निबंधन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रवींद्र जायसवाल वाराणसी उत्तर, आवास एवं शहरी नियोजन राज्य मंत्री गिरीश यादव जौनपुर, ऊर्जा राज्य मंत्री रमाशंकर सिंह पटेल मीरजापुर की मड़िहान, संगीता बलवंत गाजीपुर सदर और संजीव गोंड सोनभद्र के ओबरा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव मैदान में हैं।

Comments are closed.