रूसी सैन्य कार्रवाई का मुकाबला करने को भेजें लड़ाकू विमान – जेलेंस्की

रूस के लगातार हमलों के बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने अमेरिकी सांसदों से वीडियो कॉल में लड़ाकू विमान भेजने और रूस से तेल आयात कम करने की भावुक अपील की है ताकि उनका देश रूसी सैन्य कार्रवाई का मुकाबला कर सके। उन्होंने यह भी कहा कि हो सकता है कि वह उनको शायद आखिरी बार जिंदा देख रहे हैं।

कीव में मौजूद यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की कहा कि यहां रूस की बख्तरबंद टुकड़ियों का जमावड़ा है। यूक्रेन को अपनी हवाई सीमा की सुरक्षा करने की जरूरत है। यह या तो उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) द्वारा उड़ान वर्जित क्षेत्र लागू करने से या अधिक लड़ाकू विमानों के भेजे जाने से ही हो सकता है। जेलेंस्की कई दिनों से उड़ान वर्जित क्षेत्र घोषित करने की मांग कर रहे हैं, लेकिन नाटो इससे इनकार कर रहा है। नाटो का कहना है कि ऐसे कदम से रूस के साथ लड़ाई बढ़ सकती है।

जेलेंस्की ने करीब एक घंटे तक अमेरिका के 300 सांसदों और उनके स्टाफ से वीडियो कॉल पर बातचीत की। यह बातचीत ऐसे समय में हुई है जब यूक्रेन के शहरों पर रूसी बमबारी जारी है। उन्होंने कई शहरों को घेर लिया है जबकि 14 लाख यूक्रेनियों ने पड़ोसी देशों में शरण ली है। सीनेट में बहुमत के नेता चक शूमर ने कहा कि राष्ट्रपति जेलेंस्की ने हताश होकर गुहार लगाई है। उन्होंने कहा कि जेलेंस्की चाहते हैं कि अमेरिका पूर्वी यूरोपीय साझेदारों से विमान भेजने को कहे।

Comments are closed.