हजारीबाग में रामनवमी जुलूस को अनुमति देने की मांग को लेकर विधायक ने दिया धरना

झारखंड विधानसभा के बजट सत्र के 11वें दिन सोमवार को सदन के मुख्य द्वार पर हजारीबाग सदर विधायक मनीष जयसवाल ने हजारीबाग में रामनवमी जुलूस को अनुमति देने की मांग को लेकर धरना दिया। इस मामले पर भाजपा विधायकों ने विधानसभा के मुख्य द्वार पर हिन्दू विरोधी सरकार होश में आओ के जमकर नारे लगाए।

मौके पर मनीष जयसवाल ने कहा की हजारीबाग के रामनवमी का अपना इतिहास है। कोरोना के कारण पिछले दो वर्ष से यह बंद है, लेकिन अब सभी चीजों को बंद से मुक्त कर दिया गया है। उन्होंने सदन में सरकार से मांग की है कि हजारीबाग में रामनवमी जुलूस की अनुमति दी जाय। जयसवाल ने कहा कि यह हिन्दू धर्म के साथ सरकार की तुष्टिकरण नीति को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि सरकार को इसपर जल्द निर्णय लेना चाहिए। यह मामला करोड़ों हिंदुओं की आस्था से जुड़ा है।

विधानसभा अध्यक्ष रबिन्द्र नाथ महतो ने सदन से दो विधायकों को धरना दे रहे विधायक को सदन में लाने के लिए भेजा।

Comments are closed.