तृतीय और चतुर्थ वर्ग में नौकरी देने की मांग को लेकर भाजपा विधायकों ने धरना दिया

झारखंड विधानसभा बजट सत्र के आठवें दिन बुधवार को भी विधानसभा के मुख्य द्वार पर भाजपा विधायकों ने धरना दिया। धरने के दौरान भाजपा विधायकों ने सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। भाजपा विधायकों की मांग है कि तृतीय और चतुर्थ वर्ग की नौकरी स्थानीय लोगों को दी जाय। भाजपा विधायक अनंत ओझा ने आरोप लगाया कि सरकार स्थानीय युवाओं को रोजगार नहीं देना चाहती है। पंचायत सचिव के मामले में सरकार का रवैया साफ हो गया है।

उन्होंने कहा कि सरकार लाठी-डंडे के माध्यम से युवाओं की आवाज दबाना चाहती है। उन्होंने कहा कि पांच लाख रोजगार का वादा कर सत्ता में आई सरकार राज्य के युवाओं को भाषा विवाद में उलझा रही है। स्थानीय नीति की घोषणा नहीं कर रही है। भाजपा मौके पर विधायक मनीष जयसवाल ने कहा कि सरकार में साढ़े तीन लाख पद खाली हैं लेकिन सरकार इसपर काम नहीं कर रही है। सरकार के रवैये से साफ जाहिर होता है कि यह सरकार किसी को नौकरी नहीं देने जा रही है। पूर्व सरकार ने स्थानीय के लिए 1985 का कट ऑफ डेट तय किया था। वह भी इस सरकार को मान्य नहीं है।

कतरास स्टेशन पर 26 ट्रेन के ठहराव की मांग को लेकर ढुल्लू महतो ने दिया धरना

भाजपा विधायक ढुल्लू महतो ने कतरास स्टेशन पर 26 जोड़ी ट्रेन की ठहराव की मांग को लेकर विधानसभा के मुख्य द्वार पर धरना दिया। विधायक ने कहा कि रेलवे को सबसे ज्यादा राजस्व कतरास स्टेशन से मिलता है।पूर्व में यहां कई ट्रेन का ठहराव होता है।लेकिन अभी ठहराव रोक दिया गया है। उन्होनें कहा कि माल ढुलाई के लिए सिर्फ इस स्टेशन का उपयोग किया जा रहा है। जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस मामले में केंद्र सरकार से बात करे और कतरास स्टेशन पर 26 ट्रेन के ठहराव को सुनिश्चित करे। विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही विधानसभा अध्यक्ष रबिन्द्रनाथ महतो ने धरना पर बैठे भाजपा विधायक ढुल्लू महतो को बाहर से बुलाने के तीन सदस्यों को भेजा। इसके बाद ढुल्लू महतो सदन में आये।

Comments are closed.