बीरभूम नरसंहारः विधानसभा में भाजपा का हंगामा, वॉकआउट

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में तृणमूल कांग्रेस के एक अल्पसंख्यक नेता भादू शेख की हत्या के बाद गांव के कई घरों में लगाई गई आग में झुलसकर 10 लोगों की मौत पर मंगलवार को विधानसभा में भाजपा सदस्यों ने जमकर हंगामा किया है। प्रश्नोत्तर के दौरान भाजपा सदस्य शंकर घोष ने विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी का ध्यान इस ओर खींचा और चर्चा कराने की मांग की। साथ ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के इस्तीफे को लेकर नारेबाजी भी की। विमान बनर्जी ने कहा कि प्रश्नोत्तर पूरा होने के बाद इस बारे में बात होगी। इससे असंतुष्ट होकर भाजपा सदस्यों ने हंगामा किया। वेल के पास पहुंचकर नारेबाजी करते हुए विधानसभा से वॉकआउट कर गए।

भाजपा विधायक दल के नेता मनोज टिग्गा ने मीडिया से कहा कि बीरभूम नरसंहार से साबित हो गया है कि पश्चिम बंगाल में कानून-व्यवस्था पूरी तरह से खत्म हो गई है। सामान्य लोगों से लेकर जनप्रतिनिधि के भी जीवन का कोई मूल्य बंगाल में नहीं रह गया है। इस बर्बर हत्याकांड के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को अपने पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। उन्हें तुरंत इस्तीफा देना चाहिए। मनोज ने दावा किया कि रामपुरहाट के बकटुई गांव में सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के लोगों ने आग में जलाकर 11 लोगों को मौत के घाट उतार दिया।

बीरभूम तृणमूल कांग्रेस के अध्यक्ष अणुव्रत मंडल ने दावा किया है कि शार्ट सर्किट की वजह से आग लगी है। इसे लेकर शंकर घोष ने पूछा कि अगर शार्ट सर्किट से आग लगी है तो क्यों ममता बनर्जी ने राज्य के एक मंत्री, विधानसभा के उपाध्यक्ष और एक विधायक को तुरंत घटनास्थल पर भेजा है? पुलिस अधिकारियों को क्लोज क्यों किया गया है?

केंद्र से हस्तक्षेप की मांग
चकदह से भाजपा के विधायक बंकिम घोष ने कहा कि राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह से खत्म है। केंद्र सरकार को फौरन हस्तक्षेप करना चाहिए। उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद सैकड़ों लोगों को मौत के घाट उतारा गया। बर्बरता देखकर दिल दहल उठता है।

Comments are closed.