हेमंत सरकार ने 1932 के खतियान के आधार पर लोगों को उलझा रखा : सुदेश महतो

रांची। आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा कि हेमंत सरकार ने 1932 के खतियान के आधार पर लोगों को उलझा रखा है। इसके आधार पर स्थानीय नीति, नियोजन नीति का भरोसा देने वाली सरकार अब बैकफुट पर जाकर धोखा देने में लगी है। उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार, बेरोजगारी भत्ता, किसानों को दो लाख तक की लोन माफी और दूसरी सुविधाओं पर भी वह केवल छलावा कर रही है। आजसू पार्टी लगातार इस सरकार को झारखंड हित में कदम उठाये जाने को मजबूर करती रहेगी। सुदेश महतो सोमवार को रांची के दलादली चौक पर आयोजित विधानसभा घेराव में बोल रहे थे।

उल्लेखनीय है कि आजसू पार्टी की ओर से सोमवार को विधानसभा का घेराव किया जाना थ। लेकिन पुलिस ने जगह-जगह बैरिकेडिंग कर नेताओं को रोक दिया। रांची के दलादली चौक के पास पार्टी प्रमुख सुदेश कुमार महतो, विधायक लंबोदर महतो सहित पार्टी के सभी नेताओं को प्रशासन ने बैरिकेडिंग कर रोके रखा।

इसके बाद वहीं पर सुदेश महतो ने सभा को संबोधित करते हुए उनमें जोश भरा। उन्होंने कहा कि हर हाल में इस सरकार को झारखंडी अस्मिता, इसकी विरासत को बचाने को सामने आना होगा। 1932 के खतियान के आधार पर सारी नीतियां तय करनी होंगी। आज सरकारी बंदिशों के बावजूद पार्टी सिपाही रांची में जुटे और सर्वोच्च पंचायत तक अपनी बात पहुंचायी। अब 14 अप्रैल को बाबा साहेब भीमरांव आंबेडकर की जयंती के मौके पर पूरे राज्य में पार्टी सड़कों पर उतरेगी। राज्य सरकार से न्याय मांगा जायेगा।

उन्होंने कहा कि वादाखिलाफी पर सवाल उठेंगे। महतो ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं, नेताओं को केस मुकदमा के नाम पर विधानसभा घेराव कार्यक्रम में आने से रोका गया। पर हकीकत यह है कि संघर्ष से उपजी हुई आजसू पार्टी को लाठी-डंडों, पुलिस-बैरिकेड और केस-मुकदमे के बल से दुनिया की कोई भी सरकार चुप करा नहीं सकती। मौके पर जिला प्रशासन और पुलिस की ओर से सुरक्षा के व्यापक इंतजाम थे, ताकि कानून व्यवस्था की अराजक स्थिति ना पैदा हो।

Comments are closed.