रूसी हमले के 17 दिन: 25 लाख लोगों ने छोड़ा यूक्रेन, 15 लाख तैयारी में

-अमेरिका ने रूस से वापस लिया मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा -रूस की सीमा के पास सैनिकों को प्रशिक्षित करेगा नाटो

यूक्रेन पर रूस के हमले के 17वें दिन संयुक्त राष्ट्र संघ ने दावा किया है कि कम से कम 25 लाख लोग अब तक यूक्रेन छोड़ चुके हैं। यह संख्या जल्द ही 40 लाख हो सकती है क्योंकि कम से कम 15 लाख लोग सुरक्षित रास्ता मिलते ही यूक्रेन छोड़ने की तैयारी में हैं।

यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद यूक्रेन के लोग पलायन कर आसपास के देशों में पहुंच रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र संघ की अवर महासचिव रोज़मैरी डीकार्लो के मुताबिक हिंसा से जान बचाकर अन्य देशों में पहुंचने वाले शरणार्थियों की संख्या 25 लाख पहुंच गयी है। यह संख्या लगातार बढ़ रही है। दावा किया गया है कि कम से कम 15 लाख लोग यूक्रेन छोड़ने की तैयारी में हैं। इस तरह अगले कुछ दिनों में यूक्रेन से पलायन करने वालों की संख्या बढ़कर 40 लाख तक पहुंच जाने की उम्मीद है।

इस बीच अमेरिका ने यूक्रेन पर हमला करने को लेकर रूस को दिए गए ‘मोस्ट फेवर्ड नेशन’ के दर्जे को वापस ले लिया है। इसके अलावा, रूस के लग्जरी सामानों पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। अमेरिकी प्रशासन ने रूसी राष्ट्रपति पुतिन के प्रवक्ता पर भी पाबंदी लगा दी है। साथ ही अब रूस पर दबाव बनाने के लिए अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में भी रूस को घेरने की तैयारी हो रही है। युद्ध में नाटो पर सहयोग न करने के यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की के आरोपों के बाद नाटो देश भी सक्रिय हुए हैं। नाटो ने रूस की सीमा के पास सैनिकों का प्रशिक्षण शुरू करने का फैसला लिया है।

Comments are closed.