सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर हैं एक्टिव तो हो जायें सावधान

अनजान लोगों के वीडियो कॉल को ना करें रिसिव

रांची। अगर सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर आप एक्टिव हैं, तो सावधान हो जायें। अनजान नंबरों से आनेवाले वाट्स एप सहित अन्य कॉल आपको परेशानी में डाल सकता है। अपराधी वाट्स एप या अन्य सोशल मीडिया पर वीडियो कॉल कनेक्ट होते ही अश्लील हरकत दिखा सामनेवाले के साथ स्क्रीन रिकॉर्ड कर रहे हैं। बाद में अश्लील फोटो-वीडियो को संबंधित व्यक्ति को ब्लैकमेल करने के रांची सहित प्रदेश में कई चौंकानेवाले मामले सामने आये हैं। सेक्सटार्शन गिरोह सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर खूबसूरत लड़कियों की फोटो डाल कर फर्जी आइडी बना कर लोगों को जाल में फंसाते हैं। साइबर ठगों के नये हथियार सेक्सटॉर्शन के गंभीर प्रकरण उजागर हो रहे हैं  बदनामी के डर से कई लोग इसके शिकार हो रहे हैं। पुलिस के सामने मुसीबत इस बात की है कि ज्यादातर लोग बदनामी के डर से रिपोर्ट दर्ज कराने को राजी नहीं हो रहे, जिससे कि मामले में उचित तरीके से जांच पड़ताल भी  नहीं हो पा रही। ऐसे में अपराधियों तक पहुंचना बेहद कठिन हो जाता है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि इस प्रकरण में बदनामी के डर से कोई व्यक्ति शिकायत करने आगे नहीं आता, परंतु साइबर सेल की ओर से ऐसे प्रकरणों में पूरी तरह से गोपनीयता बरती जाती है।

किसी भी अनजान युवती से पहचान बढ़ाते समय ध्यान रखें। उसके बहकावे में न आयें। अगर कोई भीसंदेह होता है तो साइबर सेल से संपर्क किया जा सकता है। सोशल साइट पर किसी भी अनजान युवती अथवा महिला से पहचान बढ़ाते समय ध्यान रखना जरूरी है। उक्त महिला लोगों को अपने जाल में फांस कर उन्हें अश्लील चैट करने पर मजबूर करती है। सेक्सटॉर्शन के जरिये ठगी करनेवाले गिरोह में युवतियां भी शामिल होती हैं। वह पहले फेसबुक, इंस्टाग्राम पर दोस्ती गांठती हैं और फिर नंबर लेकर व्हाट्सएप चैट शुरू करती हैं। इसके बाद असली खेल शुरू होता है। वह वीडियो कॉल करती हैं और कॉल कनेक्ट होते ही सामनेवाले के मोबाइल पर न्यूड तस्वीरें दिखने लगती हैं। गिरोह के सदस्य इस चैट को रिकॉर्ड कर लेते हैं, जिसमें सामनेवाले की भी  तस्वीर नजर आती है। फिर इसी वीडियो के जरिए ब्लैकमेल कर रकम ऐंठी जाती है।

बीते 1 मार्च को जम्मू-कश्मीर में पदस्थापित वरीय सैन्य अधिकारी से सेक्सटॉर्शन के नाम पर ढाई हजार रुपये वसूले गये। इस मामले में राजधानी रांची के सदर थाना पुलिस ने 1 मार्च को विक्की कुमार नामक आरोपी को कोकर के भाभा नगर से गिरफ्तार किया। मूलरूप से बोकारो के रहनेवाले आरोपी ने पहले उसने सैन्य अधिकारी को ट्रैप करने के लिए लड़की की न्यूड फोटो और वीडियो भेजी और फिर उनका भी फर्जी वीडियो बना कर उन्हें ब्लैकमेल करने लगा। पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह कई लोगों से ठगी कर चुका है। पुलिस आरोपी को मदद करने वाले हजारीबाग जिले के बरकट्टा निवासी शशि कुमार की तलाश में जुटी है।

वहीं बीते फरवरी माह में रांची के डोरंडा थाना में सेक्सटॉर्शन के नाम पर ही 1.17 लाख कीठगी का मामला सामने आया। पीड़ित विजय कुमार ने प्राथमिकी में बताया कि सोशल साइट पर एक मैसेज आया। उसे क्लिक करने पर दूसरी तरफ लड़की सामने आयी और देखते ही देखते उसने अपने कपड़े उतार अश्लील हरकतें करनी शुरू कर दी। दो दिन बाद उसी लड़की के साथ उनका वीडियो मोबाइल पर भेज कर रुपये की मांग की जाने लगी। भय और बदनामी के डर से 1.17 लाख रुपये दे दिये। फिर भी रुपये की मांग की जा रही थी। इसके बाद पूरे मामले की जानकारी डोरंडा थाना पुलिस को दी गयी। पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर मामले की छानबीन में जुट गयी है।

Comments are closed.