यूक्रेन में फंसे झारखंड के दो छात्र, सुरक्षित वापसी की अपील

झारखंड के लोहरदगा जिले के दो मेडिकल स्टूडेंट यूक्रेन में फंसे हैं। इनकी सुरक्षा को लेकर इनके माता-पिता और परिजन काफी चिंतित हैं। साथ ही सरकार से उनकी सुरक्षित वापसी की गुहार लगाई है।

लोहरदगा पतराटोली निवासी उर्मिला कुमारी मेडिकल फर्स्ट ईयर की छात्रा है, जो नवंबर 2021 से यूक्रेन में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रही है। उर्मिला के पिता राजेश साहू और मां प्रेमा देवी सहित इसके तमाम भाई बहन और परिजन टीवी चैनलों पर नजर गड़ाए हुए हैं। उर्मिला अपने परिवार की पहली लड़की है जो पढ़ाई करने विदेश गई है।

लोहरदगा निवासी प्राइवेट नर्सिंग होम संचालक भुवाल चौधरी और विभा देवी का बेटा संदीप कुमार चौधरी भी यूक्रेन में फंसा हुआ है। संदीप यूक्रेन के पोलतावा नेशनल मेडिकल कॉलेज में एमडी की पढ़ाई कर रहा है।यह उसका चौथा वर्ष है।

इन दोनों मेडिकल स्टूडेंट के माता-पिता ने सरकार से अपील की है कि इन्हें युद्ध ग्रस्त यूक्रेन से सुरक्षित भारत लाने की पहल की जाए। दूसरे देशों के जो विद्यार्थी यूक्रेन में फंसे हुए हैं, उन्हें उनके देशों द्वारा वहां से निकालने का काम किया जा रहा है। भारत सरकार को भी तत्काल इन्हें स्वदेश लाने का प्रयास करना चाहिए।

Comments are closed.