प्रधानमंत्री के फैसले का पंजाब में चौतरफा स्वागत

पंजाब के डिप्टी सीएम ने भी प्रधानमंत्री के निर्णय को सराहा

  • साहिबजादों को समर्पित फैसले पर हर ओर खुशी
चंडीगढ़। गुरु गोबिंद सिंह के प्रकाशोत्सव के अवसर पर नरेंद्र मोदी द्वारा चार साहिबजादों को समर्पित वीर बाल दिवस मनाने के ऐलान का पंजाब में चौतरफा स्वागत हो रहा है। वीर बाल दिवस हर साल 26 दिसंबर को मनाया जायेगा। प्रधानमंत्री के ऐलान के बाद सत्तारूढ़ कांग्रेसी भी दबी-दबी जुबान में इसका स्वागत कर रहे हैं।
मोदी के ऐलान के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय सांपला ने कहा कि यह मान व सम्मान का विषय है। चार साहिबजाादों की शहादत को उचित सम्मान देकर प्रधानमंत्री ने भारत ही नहीं, समूचे विश्व में एकता व भाईचारे का संदेश दिया है।

पंजाब भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने कहा कि यह ऐलान लोगों में नई रूह फूंकने के समान है। साहिबजादों की कुर्बानी के बारे में जानने का अधिकार पूरे विश्व को है। स्कूली बच्चों को पाठयक्रम के माध्यम से उनके बारे में जानकारी दी जाएगी। अब भारत ही नहीं, समूचे विश्व में बसी नानक नाम लेवा संगत 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस मनाएगी। मोदी ने जो ऐलान किया है, उसके बारे में पिछले 75 वर्ष में किसी भी प्रधानमंत्री ने इस बारे में नहीं सोचा।

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि विश्व भर के लोगों को साहिबजादों की महान कुर्बानी के बारे में जानना चाहिए। प्रधानमंत्री का यह फैसला प्रशंसनीय है। इसके लिए उनका जितना आभार व्यक्त किया जाए, कम है।

पंजाब के उपमुख्यमंत्री ओपी सोनी ने भी प्रधानमंत्री के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि हमें अपनी शहीदों की कुर्बानी को नहीं भूलना चाहिए। यह साहिबजादों को सच्ची श्रद्धांजलि है। बतौर उपमुख्यमंत्री वह इस फैसले का स्वागत करते हैं। पंजाब यूथ कांग्रेस के प्रधान बरिंदर ढिल्लों ने कहा कि यह फैसला प्रशंसनीय है, लेकिन बेहतर होता अगर चुनाव से पहले किया जाता। चुनाव आते ही केंद्र सरकार को इस तरह के फैसले लेने कैसे याद आते हैं। इस तरह के मुद्दों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.