प्रधानमंत्री मोदी: अपराध का खेल खेलने वालों के साथ योगी सरकार जेल-जेल खेल रही

  • मुलायम और अखिलेश पर कटाक्ष कहा: गलती होने पर यह कहकर ना टाल दें कि लड़ाकों से गलती हो जाती है
  • उप्र में पहले माफिया खेल खेलते थे, अब योगी सरकार उनके साथ जेल-जेल खेल रही

प्रधानमंत्री मोदी ने मेरठ के सरधना में उत्तर प्रदेश के पहले खेल विश्वविद्यालय की आधारशिला रखने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुये कहा कि हमें खेलों का ‘इको सिस्टम’ बनाना होगा और उसके लिए इंफ्रास्ट्रक्चर जरूरी है। मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी इस दिशा में एक कदम है।

साथ ही उन्होंने समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता मुलायम सिंह यादव पर कटाक्ष करते हुये कहा कि सरकारों की भूमिका अभिभावक की तरह होती है। योग्यता होने पर बढ़ावा भी दे और गलती होने पर यह कहकर ना टाल दे कि लड़कों से गलती हो जाती है। उन्होने अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली सपा पर भी तंज कसते हुये कहा कि प्रशिक्षण से लेकर चयन तक, ‘भाई-भतीजावाद’ था और कोई पारदर्शिता नहीं थी। उन्होंने कहा कि देश में अब ‘खेलो इंडिया’ के जरिए देश के कोने-कोने में प्रतिभाशाली युवाओं की पहचान हो रही है।

डर के साये में जीने वाली बेटियां आज देश का नाम रौशन कर रही हैं
प्रधानमंत्री ने राज्य की कानून व्यवस्था खासकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पलायन को लेकर सपा सरकार पर निशाना साधते हुये कहा कि मेरठ और आसपास के क्षेत्रों के लोग कभी भूल नहीं सकते कि लोगों के घर जला दिए जाते थे और पहले की सरकार अपने खेल में लगी रहती थी। पहले की सरकारों के खेल का ही नतीजा था कि लोग अपना पुश्तैनी घर छोड़कर पलायन के लिए मजबूर हो गए थे। अब योगी जी की सरकार ऐसे अपराधियों के साथ जेल-जेल खेल रही है। पांच साल पहले इसी मेरठ की बेटियां शाम होने के बाद अपने घर से निकलने से डरती थीं। आज मेरठ की बेटियां पूरे देश का नाम रौशन कर रही हैं।

जिधर युवा चलेगा, उधर भारत चलेगा: प्रधानमंत्री मोदी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को कहा कि युवा नये भारत का कर्णधार भी है, विस्तार भी है। युवा नये भारत का नियंता भी है, नेतृत्वकर्ता भी है। जिधर युवा चलेगा, उधर भारत चलेगा और जिधर भारत चलेगा, उधर ही अब दुनिया चलने वाली है। मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय की आधारशिला रखते हुये यहां वे अपनी बात रख रहे थे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आज के युवाओं के पास प्राचीनता की विरासत भी है और आधुनिकता का बोध भी है। जिधर युवा चलेगा, उधर भारत चलेगा और जिधर भारत चलेगा, उधर ही अब दुनिया चलने वाली है।
पूर्व की सरकारों पर तीखा व्यंग्य करते हुये प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यहां मेरठ के सोतीगंज बाजार में गाड़ियों के साथ होने वाला खेल भी अब समाप्त हो रहा है। अब उप्र में असली खेल को बढ़ावा मिल रहा है। यहां के युवाओं को खेल की दुनिया में छा जाने का मौका मिल रहा है।

पीएम ने ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी
उन्होंने कहा कि मैं उत्तर प्रदेश के नौजवानों को उत्तर प्रदेश के पहले खेल विश्वविद्यालय के लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं। 700 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय आधुनिक दुनिया की श्रेष्ठ स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी में से एक होगी। विश्वविद्यालय में 540 महिला और 540 पुरुष खिलाड़ियों को मिलाकर कुल 1080 खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देने की क्षमता होगी। खेल विश्वविद्यालय आधुनिक और उत्कृष्ट खेल अवसंरचना से युक्त होगा। विश्वविद्यालय में सिंथेटिक हॉकी मैदान, फुटबाल मैदान, बास्केटबॉल के साथ-साथ वॉलीबॉल, हैंडबॉल, कबड्डी ग्राउंड समेत बहुउद्देश्यीय हॉल भी तैयार किया जायेगा। विश्वविद्यालय में निशानेबाजी, तीरंदाजी के साथ अन्य खेलों की सुविधायें भी रहेंगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय की आधारशिला रखने से पहले ओलंपिक और पैरालंपिक खिलाड़ियों से बातचीत की। इस दौरान उनके साथ प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी उपस्थित थे। बातचीत के अंत में उन्होंने सभी खिलाड़ियों के साथ तस्वीर भी खिंचवायी। यहां उन्होंने खेल उत्पाद से जुड़ी समग्रियों की प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। इस दौरान वे कुछेक खेल सामग्रियों का उपयोग कर उसका अनुभव लेते भी दिखे।

प्रधानमंत्री ने खिलाड़ियों को दिया सम्मान: आदित्यनाथ
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में भारत ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है। खेलो इंडिया के माध्यम से खेल प्रतिभाओं को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री ने कार्य किया। वह अभूतपूर्व और अभिनंदनीय है। इसका परिणाम रहा कि टोक्यो ओलंपिक और पैरा ओलंपिक में खिलाड़ियों ने पदक जीते।

Leave A Reply

Your email address will not be published.