महेश अग्रवाल की जमानत याचिका पर तीन फरवरी को सुनवाई करेगा एनआईए कोर्ट

रांची। प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन तृतीय प्रस्तुति कमिटी( टीपीसी ) को राशि मुहैया कराने के मामले में गिरफ्तार किये गये आधुनिक पावर एंड नेचुरल रिसोर्सेज लिमिटेड के पूर्व प्रबंध निदेशक महेश अग्रवाल ने अपनी जमानत के लिए एनआईए की विशेष अदालत में याचिका दाखिल की है। महेश अग्रवाल ने अपने अधिवक्ता के माध्यम से नियमित जमानत की अर्जी देते हुए अदालत से जमानत देने की गुहार लगायी है। एनआईए की विशेष अदालत ने अग्रवाल की जमानत याचिका पर सुनवाई के लिए तीन फरवरी की तिथि निर्धारित की है।

उल्लेखनीय है कि महेश अग्रवाल को टेरर फंडिंग मामले में हाईकोर्ट द्वारा राहत दिये जाने से इनकार करने के बाद 18 जनवरी को एनआईए ने कोलकाता से गिरफ्तार किया था। एनआईए की टीम कोलकाता से ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद 19 जनवरी की देर रात अग्रवाल को लेकर रांची पहुंची थी। इस मामले में अन्य दो आरोपितो कोयला ट्रांसपोर्टर अमित अग्रवाल उर्फ सोनू और विनीत अग्रवाल की गिरफ्तारी अब तक नहीं हो पायी है। महेश अग्रवाल सहित तीनों आरोपितों पर सीसीएल के आम्रपाली परियोजना से कोयला ट्रांसपोर्टिंग के लिए उग्रवादी संगठन टीपीसी को फंड देने का आरोप है। एनआईए ने जांच के बाद इनकी संलिप्तता के प्रमाण पाते हुए आरोपी बनाया है।

Comments are closed.