बाबूलाल ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को लिखा पत्र

भाजपा विधायक दल के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है। यह पत्र स्वच्छ भारत मिशन (झारखण्ड) के संविदा कर्मियों को केन्द्र सरकार द्वारा जारी द्वितीय चरण के मार्गदर्शिका के आलोक में इनकी सेवा यथावत रखने के संबंध में है।

उन्होंने पत्र में कहा है कि स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) अन्तर्गत वर्ष 2014 से झारखण्ड के सभी जिलो, प्रखण्डों एवं राज्य स्तर पर पीएमयू गठन किया गया था, जिसमें विभिन्न पदों के लिए संविदा पर 522 कर्मियों की नियुक्ति की गई थी। सभी कर्मी अभी तक निष्पक्षतापूर्वक कार्य कर रहे हैं तथा इस माध्यम से अपने परिवार का जीविकोपार्जन भी चला रहे हैं। लेकिन, इसी बीच पेयजल एवं स्वच्छता विभाग द्वारा चार जून 2021 को एसबीएम (ग्रामीण) तहत राज्य, जिला एवं प्रखण्ड स्तर पर पीएमयू के पुर्नगठन का आदेश निर्गत किया गया है, जिसकी वजह से कार्यरत संविदा कर्मी अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं।

जबकि पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय, भारत सरकार के द्वारा एक पत्र सभी राज्यों के मुख्य सचिवों के नाम से प्रेषित किया गया है, जिसमें स्पष्ट रूप से वर्णित है कि एसबीएम अन्तर्गत पूर्व से संविदा पर कार्यरत कर्मियों को समायोजित करते हुए शेष नए सृजित पदों पर ही नियुक्ति की प्रक्रिया पूर्ण किया जाना है। आपसे अनुरोध है कि संविदा पर कार्यरत कर्मियों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुए इनकी सेवा को नियमित रखा जाय ताकि इन लोगों के सामने जीविकोपार्जन की समस्या उत्पन्न नहीं हो।

Comments are closed.